Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Feb 2023 · 1 min read

आज की प्रस्तुति – भाग #2

मैं खयालों की दुनिया में जीना चाहता हूं,
जहां ख्वाब होते देश मेरे और सपने होते मुल्क मेरे,
ख्वाहिशों का धुआं ना होता भरा ज़ेहन में,
ना चाहतों से बेरौशन वो जहां होते,
बस एक दोस्त होता जिंदगी भर के लिए,
जिंदगी भर की एक दोस्ती होती।
मैं ऐसे ही एक ख्वाब में जीना चाहता हूं।

~ रचयिता – राजीव भाई घुमंतू
निवास – कलकत्ता, भारत
संपर्क सूत्र – 9062681467 (whatsaap)

151 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सत्य क्या है ?
सत्य क्या है ?
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
आप की असफलता में पहले आ शब्द लगा हुआ है जिसका विस्तृत अर्थ ह
आप की असफलता में पहले आ शब्द लगा हुआ है जिसका विस्तृत अर्थ ह
Rj Anand Prajapati
आजकल लोग का घमंड भी गिरगिट के जैसा होता जा रहा है
आजकल लोग का घमंड भी गिरगिट के जैसा होता जा रहा है
शेखर सिंह
प्रभु का प्राकट्य
प्रभु का प्राकट्य
Anamika Tiwari 'annpurna '
नये वर्ष का आगम-निर्गम
नये वर्ष का आगम-निर्गम
Ramswaroop Dinkar
ऐसे ना मुझे  छोड़ना
ऐसे ना मुझे छोड़ना
Umender kumar
आप क्या ज़िंदगी को
आप क्या ज़िंदगी को
Dr fauzia Naseem shad
*अध्याय 11*
*अध्याय 11*
Ravi Prakash
मंजिलें भी दर्द देती हैं
मंजिलें भी दर्द देती हैं
Dr. Kishan tandon kranti
संवेदना बोलती आँखों से 🙏
संवेदना बोलती आँखों से 🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
संस्कार संस्कृति सभ्यता
संस्कार संस्कृति सभ्यता
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
■ आज का संकल्प...
■ आज का संकल्प...
*Author प्रणय प्रभात*
सच तो तस्वीर,
सच तो तस्वीर,
Neeraj Agarwal
इस कदर भीगा हुआ हूँ
इस कदर भीगा हुआ हूँ
Dr. Rajeev Jain
बहुत नफा हुआ उसके जाने से मेरा।
बहुत नफा हुआ उसके जाने से मेरा।
शिव प्रताप लोधी
देश हमारा
देश हमारा
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
पुतलों का देश
पुतलों का देश
DR. Kaushal Kishor Shrivastava
ईश्वर की कृपा दृष्टि व बड़े बुजुर्ग के आशीर्वाद स्वजनों की द
ईश्वर की कृपा दृष्टि व बड़े बुजुर्ग के आशीर्वाद स्वजनों की द
Shashi kala vyas
खरा इंसान
खरा इंसान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
टिमटिमाता समूह
टिमटिमाता समूह
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
हिम्मत मत हारो, नए सिरे से फिर यात्रा शुरू करो, कामयाबी ज़रूर
हिम्मत मत हारो, नए सिरे से फिर यात्रा शुरू करो, कामयाबी ज़रूर
Nitesh Shah
2823. *पूर्णिका*
2823. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
योग इक्कीस जून को,
योग इक्कीस जून को,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सपने
सपने
Santosh Shrivastava
माँ
माँ
The_dk_poetry
!! सोपान !!
!! सोपान !!
Chunnu Lal Gupta
There are instances that people will instantly turn their ba
There are instances that people will instantly turn their ba
पूर्वार्थ
* तुम न मिलती *
* तुम न मिलती *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*हिन्दी बिषय- घटना*
*हिन्दी बिषय- घटना*
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मित्रता मे बुझु ९०% प्रतिशत समानता जखन भेट गेल त बुझि मित्रत
मित्रता मे बुझु ९०% प्रतिशत समानता जखन भेट गेल त बुझि मित्रत
DrLakshman Jha Parimal
Loading...