Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Apr 2024 · 1 min read

आजा मेरे दिल तू , मत जा मुझको छोड़कर

आजा मेरे दिल तू , मत जा मुझको छोड़कर।
दामन तू और का थामकर, मेरा दिल तू तोड़कर।।
आजा मेरे दिल तू —————————–।।

मेरा प्यार सच्चा है, मैं बेवफा नहीं।
माना है तुमको खुशी, तुमसे खफ़ा नहीं।।
मेरे चमन का फूल है तू , मत जा ऐसे छोड़कर।
आजा मेरे दिल तू ————————-।।

भूल गया कैसे तू , अपना वो मिलन।
साथ साथ बातें करना, अपनी वो लगन।।
मेरे जीवन का ख्वाब है तू ,मत जा मुँह मोड़कर।
आजा मेरे दिल तू ————————।।

मेरी मोहब्बत, तुमको जीने नहीं देगी।
याद मेरी आयेगी, तुमको सोने नहीं देगी।।
मत भूल मेरी वफ़ाएं तू , मत जा अकेला छोड़कर।
आजा मेरे दिल तू ————————-।।

शिक्षक एवं साहित्यकार
गुरुदीन वर्मा उर्फ़ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)

Language: Hindi
Tag: गीत
70 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तुम्हें अकेले चलना होगा
तुम्हें अकेले चलना होगा
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
12, कैसे कैसे इन्सान
12, कैसे कैसे इन्सान
Dr Shweta sood
अजर अमर सतनाम
अजर अमर सतनाम
Dr. Kishan tandon kranti
पंख पतंगे के मिले,
पंख पतंगे के मिले,
sushil sarna
क्या रावण अभी भी जिन्दा है
क्या रावण अभी भी जिन्दा है
Paras Nath Jha
मेरे सपनों में आओ . मेरे प्रभु जी
मेरे सपनों में आओ . मेरे प्रभु जी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
तुम क्या चाहते हो
तुम क्या चाहते हो
gurudeenverma198
मां बेटी
मां बेटी
Neeraj Agarwal
फादर्स डे
फादर्स डे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
बाल एवं हास्य कविता : मुर्गा टीवी लाया है।
बाल एवं हास्य कविता : मुर्गा टीवी लाया है।
Rajesh Kumar Arjun
कहां  गए  वे   खद्दर  धारी  आंसू   सदा   बहाने  वाले।
कहां गए वे खद्दर धारी आंसू सदा बहाने वाले।
कुंवर तुफान सिंह निकुम्भ
और कितनें पन्ने गम के लिख रखे है साँवरे
और कितनें पन्ने गम के लिख रखे है साँवरे
Sonu sugandh
वैसे थका हुआ खुद है इंसान
वैसे थका हुआ खुद है इंसान
शेखर सिंह
और नहीं बस और नहीं, धरती पर हिंसा और नहीं
और नहीं बस और नहीं, धरती पर हिंसा और नहीं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हम तुम्हारे साथ हैं
हम तुम्हारे साथ हैं
विक्रम कुमार
राम से बड़ा राम का नाम
राम से बड़ा राम का नाम
Anil chobisa
3263.*पूर्णिका*
3263.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"साफ़गोई" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
काश! तुम हम और हम हों जाते तेरे !
काश! तुम हम और हम हों जाते तेरे !
The_dk_poetry
महसूस करो दिल से
महसूस करो दिल से
Dr fauzia Naseem shad
तेवरी को विवादास्पद बनाने की मुहिम +रमेशराज
तेवरी को विवादास्पद बनाने की मुहिम +रमेशराज
कवि रमेशराज
मां का दर रहे सब चूम
मां का दर रहे सब चूम
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
राजनीति के क़ायदे,
राजनीति के क़ायदे,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बेटियां एक सहस
बेटियां एक सहस
Tarun Singh Pawar
मोह माया ये ज़िंदगी सब फ़ँस गए इसके जाल में !
मोह माया ये ज़िंदगी सब फ़ँस गए इसके जाल में !
Neelam Chaudhary
Mujhe laga tha ki meri talash tum tak khatam ho jayegi
Mujhe laga tha ki meri talash tum tak khatam ho jayegi
Sakshi Tripathi
विद्यादायिनी माँ
विद्यादायिनी माँ
Mamta Rani
तसल्ली मुझे जीने की,
तसल्ली मुझे जीने की,
Vishal babu (vishu)
आ अब लौट चले
आ अब लौट चले
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
■ जय नागलोक
■ जय नागलोक
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...