Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Jun 2016 · 1 min read

आघाती पैबंद लगे हैं …….

नव गीत ……
आघाती पैबंद लगे हैं …

बहुत उधेडा जीवन अपना
आघाती पेबंद लगे हैं ….
जो अपने थे हुए पराये
दूरी के अनुबंध लगे हैं ….

अपनों ने ही पत्थर मारे
शीशे टूटे दिल के मेरे
कौन सुने व्यथायें मन की

रह गए सारे कथन अधूरे

बहुत बचाया सन्नाटों से
खामोशी के टाट लगे हैं ….
बहुत उधेडा जीवन अपना
आघाती पेबंद लगे हैं ….

छिड़का जहाँ मुशक से पानी
सड़कें अब भी वैसी ही हैं…..
सारा पानी उलीच दिया
गीली हैं पर धुली नहीं हैं

राजनीति के गलियारों में
आदेश मुहर बंद लगे हैं ….
बहुत उधेडा जीवन अपना
आघाती पेबंद लगे हैं ….

…..आभा

Language: Hindi
Tag: गीत
2 Likes · 1 Comment · 582 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
चेहरे की तलाश
चेहरे की तलाश
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
काश लौट कर आए वो पुराने जमाने का समय ,
काश लौट कर आए वो पुराने जमाने का समय ,
Shashi kala vyas
खुशबू बनके हर दिशा बिखर जाना है
खुशबू बनके हर दिशा बिखर जाना है
VINOD CHAUHAN
ग़ज़ल सगीर
ग़ज़ल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
ताउम्र लाल रंग से वास्ता रहा मेरा
ताउम्र लाल रंग से वास्ता रहा मेरा
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
पोषित करते अर्थ से,
पोषित करते अर्थ से,
sushil sarna
आवाजें
आवाजें
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
सुप्रभात
सुप्रभात
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
❤️सिर्फ़ तुझे ही पाया है❤️
❤️सिर्फ़ तुझे ही पाया है❤️
Srishty Bansal
बड़ा गहरा रिश्ता है जनाब
बड़ा गहरा रिश्ता है जनाब
शेखर सिंह
आंख खोलो और देख लो
आंख खोलो और देख लो
Shekhar Chandra Mitra
आओ बैठो पियो पानी🌿🇮🇳🌷
आओ बैठो पियो पानी🌿🇮🇳🌷
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
usne kuchh is tarah tarif ki meri.....ki mujhe uski tarif pa
usne kuchh is tarah tarif ki meri.....ki mujhe uski tarif pa
Rakesh Singh
पास बुलाता सन्नाटा
पास बुलाता सन्नाटा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
शिक्षा
शिक्षा
Buddha Prakash
Have faith in your doubt
Have faith in your doubt
AJAY AMITABH SUMAN
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
कहीं खूबियां में भी खामियां निकाली जाती है, वहीं कहीं  कमियो
कहीं खूबियां में भी खामियां निकाली जाती है, वहीं कहीं कमियो
Ragini Kumari
डारा-मिरी
डारा-मिरी
Dr. Kishan tandon kranti
वो सब खुश नसीब है
वो सब खुश नसीब है
शिव प्रताप लोधी
उसकी एक नजर
उसकी एक नजर
साहिल
Jeevan ke is chor pr, shanshon ke jor pr
Jeevan ke is chor pr, shanshon ke jor pr
Anu dubey
Ab kya bataye ishq ki kahaniya aur muhabbat ke afsaane
Ab kya bataye ishq ki kahaniya aur muhabbat ke afsaane
गुप्तरत्न
#चाकलेटडे
#चाकलेटडे
सत्य कुमार प्रेमी
हटा 370 धारा
हटा 370 धारा
लक्ष्मी सिंह
विशेष दिन (महिला दिवस पर)
विशेष दिन (महिला दिवस पर)
Kanchan Khanna
23/114.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/114.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बचपन
बचपन
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
अंध विश्वास - मानवता शर्मसार
अंध विश्वास - मानवता शर्मसार
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
चरणों में सौ-सौ अभिनंदन ,शिक्षक तुम्हें प्रणाम है (गीत)
चरणों में सौ-सौ अभिनंदन ,शिक्षक तुम्हें प्रणाम है (गीत)
Ravi Prakash
Loading...