Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Nov 2016 · 1 min read

आँख कर दे दान कँवल दिल को सुकून मिल जायेगा

तेरे मेरे बीच फिर भी फासला रह जाएगा
मिट भी जाएँ दूरियां फिर भी गिला रह जाएगा

आँधी आये या कि तूफ़ा बुझ नहीं पायेगा वो
जिस दिए में जान होगी वो दीया रह जाएगा

यूँ न खेल दिलों से किसी के ऐ बेवफ़ा
बनकर तू भी कोई बस खिलौना रह जाएगा

राजा हो या रंक ,दुनिया छोड़ कर जाना तो है
जो तू करता मेरा मेरा सब धरा रह जाएगा

क्यों बैठे है अपनो में लपेटे चादर ग़ुरूर की
इक दिन ऐसा आयेगा खुद तनहा रह जाएगा

आँख कर दे दान कँवल दिल को सुकूँ मिल जाएगा
इस बहाने दुनिया में नाम तेरा रह जाएगा

5 Comments · 301 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from बबीता अग्रवाल #कँवल
View all
You may also like:
चीख की लय
चीख की लय
Shekhar Chandra Mitra
अन्नदाता
अन्नदाता
Akash Yadav
गल्प इन किश एंड मिश
गल्प इन किश एंड मिश
प्रेमदास वसु सुरेखा
*जातिवाद का खण्डन*
*जातिवाद का खण्डन*
Dushyant Kumar
विश्वास मिला जब जीवन से
विश्वास मिला जब जीवन से
TARAN VERMA
टेंशन है, कुछ समझ नहीं आ रहा,क्या करूं,एक ब्रेक लो,प्रॉब्लम
टेंशन है, कुछ समझ नहीं आ रहा,क्या करूं,एक ब्रेक लो,प्रॉब्लम
dks.lhp
हाथ कंगन को आरसी क्या
हाथ कंगन को आरसी क्या
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
शुभ् कामना मंगलकामनाएं
शुभ् कामना मंगलकामनाएं
Mahender Singh Manu
एक ख्वाब सजाया था मैंने तुमको सोचकर
एक ख्वाब सजाया था मैंने तुमको सोचकर
डॉ. दीपक मेवाती
रावण की हार .....
रावण की हार .....
Harminder Kaur
क्रेडिट कार्ड
क्रेडिट कार्ड
Sandeep Pande
#लघुकथा
#लघुकथा
*Author प्रणय प्रभात*
तुम्हारी खूब़सूरती क़ी दिन रात तारीफ क़रता हूं मैं....
तुम्हारी खूब़सूरती क़ी दिन रात तारीफ क़रता हूं मैं....
Swara Kumari arya
फितरत
फितरत
Bodhisatva kastooriya
जिन्दगी के रंग
जिन्दगी के रंग
Santosh Shrivastava
*चुनाव में महिला सीट का चक्कर (हास्य व्यंग्य)*
*चुनाव में महिला सीट का चक्कर (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
बड़ी सी इस दुनिया में
बड़ी सी इस दुनिया में
पूर्वार्थ
हर शख्स माहिर है.
हर शख्स माहिर है.
Radhakishan R. Mundhra
बिडम्बना
बिडम्बना
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
तुम मोहब्बत में
तुम मोहब्बत में
Dr fauzia Naseem shad
सबसे कठिन है
सबसे कठिन है
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
मैं और मेरी फितरत
मैं और मेरी फितरत
लक्ष्मी सिंह
मुझमें एक जन सेवक है,
मुझमें एक जन सेवक है,
Punam Pande
सुप्रभात
सुप्रभात
Arun B Jain
💐प्रेम कौतुक-171💐
💐प्रेम कौतुक-171💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जिन्दा रहे यह प्यार- सौहार्द, अपने हिंदुस्तान में
जिन्दा रहे यह प्यार- सौहार्द, अपने हिंदुस्तान में
gurudeenverma198
एक तू ही नहीं बढ़ रहा , मंजिल की तरफ
एक तू ही नहीं बढ़ रहा , मंजिल की तरफ
कवि दीपक बवेजा
कौन याद दिलाएगा शक्ति
कौन याद दिलाएगा शक्ति
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
13. पुष्पों की क्यारी
13. पुष्पों की क्यारी
Rajeev Dutta
ले चल मुझे भुलावा देकर
ले चल मुझे भुलावा देकर
Dr Tabassum Jahan
Loading...