Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Oct 2022 · 1 min read

अर्थहीन

उस ज्ञान का क्या लाभ जो
पुस्तकों में बंदी होकर रह जाए,
उस धन का क्या लाभ जो
तिजोरी में बंद होकर रह जाए,
उस सद्भावना का क्या लाभ जो
क्रियाहीन होकर रह जाए,
उस सुख का क्या लाभ जो
दूसरों को दुःखी कर अर्जित की जाए ,
उस संबंध का क्या लाभ जो
अपनों से विच्छेद कर दे,
उस मित्र का क्या लाभ जो
संकट आने पर उदासीन रहे ,
उस दान का क्या लाभ जो
पात्र एवं कुपात्र का भेद न कर सके,
उस राजनीति का क्या लाभ जो
जन कल्याण न कर सके,
उस विद्वता का क्या लाभ जो
व्यावहारिक ना हो,
तार्किक क्षमता तक ही सीमित
होकर रह जाए,
उस सलाह का क्या लाभ जो
क्रियान्वित ना हो सके,
उस जीवन का क्या लाभ जिसका
कोई लक्ष्य ना हो,
उस आस्था एवं भक्ति का क्या लाभ जो
आत्मशांति ना दे सके,
उस मृत्यु का क्या लाभ जो
मुक्ति ना दिला सके,

Language: Hindi
9 Likes · 10 Comments · 216 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Shyam Sundar Subramanian
View all
You may also like:
बुढ़ापे में हड्डियाँ सूखा पतला
बुढ़ापे में हड्डियाँ सूखा पतला
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
एक शे'र
एक शे'र
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
धोखा था ये आंख का
धोखा था ये आंख का
RAMESH SHARMA
विनाश की जड़ 'क्रोध' ।
विनाश की जड़ 'क्रोध' ।
Buddha Prakash
चाँद सा मुखड़ा दिखाया कीजिए
चाँद सा मुखड़ा दिखाया कीजिए
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
जुगनू
जुगनू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
అదే శ్రీ రామ ధ్యానము...
అదే శ్రీ రామ ధ్యానము...
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
मोहब्बत शायरी
मोहब्बत शायरी
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
किया है तुम्हें कितना याद ?
किया है तुम्हें कितना याद ?
The_dk_poetry
"अतितॄष्णा न कर्तव्या तॄष्णां नैव परित्यजेत्।
Mukul Koushik
जब कोई महिला किसी के सामने पूर्णतया नग्न हो जाए तो समझिए वह
जब कोई महिला किसी के सामने पूर्णतया नग्न हो जाए तो समझिए वह
Rj Anand Prajapati
जीवन तेरी नयी धुन
जीवन तेरी नयी धुन
कार्तिक नितिन शर्मा
वतन
वतन
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
राम की रहमत
राम की रहमत
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
आसान नहीं होता...
आसान नहीं होता...
Dr. Seema Varma
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
रोला छंद
रोला छंद
sushil sarna
ତାଙ୍କଠାରୁ ଅଧିକ
ତାଙ୍କଠାରୁ ଅଧିକ
Otteri Selvakumar
💐प्रेम कौतुक-281💐
💐प्रेम कौतुक-281💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तू है लबड़ा / MUSAFIR BAITHA
तू है लबड़ा / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
कुछ कमीने आज फ़ोन करके यह कह रहे चलो शाम को पार्टी करते हैं
कुछ कमीने आज फ़ोन करके यह कह रहे चलो शाम को पार्टी करते हैं
Anand Kumar
नफ़रत कि आग में यहां, सब लोग जल रहे,
नफ़रत कि आग में यहां, सब लोग जल रहे,
कुंवर तुफान सिंह निकुम्भ
सोच के दायरे
सोच के दायरे
Dr fauzia Naseem shad
24/234. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
24/234. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
" बोलियाँ "
Dr. Kishan tandon kranti
चलो आज कुछ बात करते है
चलो आज कुछ बात करते है
Rituraj shivem verma
ग़ज़ल/नज़्म - हुस्न से तू तकरार ना कर
ग़ज़ल/नज़्म - हुस्न से तू तकरार ना कर
अनिल कुमार
प्रणय 10
प्रणय 10
Ankita Patel
■ कविता
■ कविता
*Author प्रणय प्रभात*
*आई गंगा स्वर्ग से, चमत्कार का काम (कुंडलिया)*
*आई गंगा स्वर्ग से, चमत्कार का काम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
Loading...