Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Sep 2023 · 1 min read

अभी दिल भरा नही

अभी दिल भरा नही,
अभी मन भरा नही।
क्यो जाते हों छोड़ के,
अभी कुछ हुआ नहीं।।

अभी मन मिले नही,
अभी अधर मिले नही।
मंजिल अभी तो दूर है,
सच्चे साथी मिले नही।।

अभी तो फूल खिले नही,
अभी मन के मैल धुले नही।
धूल जाए जब दिल के मैल,
फिर कोई हमे गिले नही।।

अभी तो कलि खिली नही,
अभी यौवन पर आई नही।
थोड़ा अभी इंतजार करो,
अभी तुम्हारी बारी आई नही।।

अभी बगिया महकी नही,
अभी कोयल चहकी नही।
कालिया अभी कच्ची है,
अभी तक वे बहकी नही।l

अभी थोड़ा इंतजार करो,
अभी थोड़ा आराम करो।
मिल जायेगी खबर तुमको
अभी थोड़ा सा सब्र करो।।

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

Language: Hindi
4 Likes · 7 Comments · 274 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ram Krishan Rastogi
View all
You may also like:
बिना रुके रहो, चलते रहो,
बिना रुके रहो, चलते रहो,
Kanchan Alok Malu
दोहा-
दोहा-
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
हिंदुस्तानी है हम सारे
हिंदुस्तानी है हम सारे
Manjhii Masti
बेटियाँ
बेटियाँ
Surinder blackpen
इस सियासत का ज्ञान कैसा है,
इस सियासत का ज्ञान कैसा है,
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
3088.*पूर्णिका*
3088.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
औरत का जीवन
औरत का जीवन
Dheerja Sharma
मैं अपने सारे फ्रेंड्स सर्कल से कहना चाहूँगी...,
मैं अपने सारे फ्रेंड्स सर्कल से कहना चाहूँगी...,
Priya princess panwar
वो लम्हें जो हर पल में, तुम्हें मुझसे चुराते हैं।
वो लम्हें जो हर पल में, तुम्हें मुझसे चुराते हैं।
Manisha Manjari
ख्वाबों में मेरे इस तरह आया न करो,
ख्वाबों में मेरे इस तरह आया न करो,
Ram Krishan Rastogi
स्त्री यानी
स्त्री यानी
पूर्वार्थ
फूलों से भी कोमल जिंदगी को
फूलों से भी कोमल जिंदगी को
Harminder Kaur
इस दुनियां में अलग अलग लोगों का बसेरा है,
इस दुनियां में अलग अलग लोगों का बसेरा है,
Mansi Tripathi
सेर
सेर
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
डरना नही आगे बढ़ना_
डरना नही आगे बढ़ना_
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
शेर
शेर
Dr. Kishan tandon kranti
पैसा और ज़रूरत
पैसा और ज़रूरत
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
तुम्हें आभास तो होगा
तुम्हें आभास तो होगा
Dr fauzia Naseem shad
***
*** " कभी-कभी...! " ***
VEDANTA PATEL
मेरा एक मित्र मेरा 1980 रुपया दो साल से दे नहीं रहा था, आज स
मेरा एक मित्र मेरा 1980 रुपया दो साल से दे नहीं रहा था, आज स
Anand Kumar
ज़िंदगी...
ज़िंदगी...
Srishty Bansal
सकट चौथ की कथा
सकट चौथ की कथा
Ravi Prakash
#लघुकविता-
#लघुकविता-
*Author प्रणय प्रभात*
ख़ुश-फ़हमी
ख़ुश-फ़हमी
Fuzail Sardhanvi
‼️परिवार संस्था पर ध्यान ज़रूरी हैं‼️
‼️परिवार संस्था पर ध्यान ज़रूरी हैं‼️
Aryan Raj
।।अथ श्री सत्यनारायण कथा तृतीय अध्याय।।
।।अथ श्री सत्यनारायण कथा तृतीय अध्याय।।
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हकमारी
हकमारी
Shekhar Chandra Mitra
उन वीर सपूतों को
उन वीर सपूतों को
gurudeenverma198
लड़की
लड़की
Dr. Pradeep Kumar Sharma
साइकिल चलाने से प्यार के वो दिन / musafir baitha
साइकिल चलाने से प्यार के वो दिन / musafir baitha
Dr MusafiR BaithA
Loading...