Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Aug 2023 · 1 min read

अब मेरी आँखों ने आँसुओ को पीना सीख लिया है,

अब मेरी आँखों ने आँसुओ को पीना सीख लिया है,
और अपनी बेवसी को खाकर पेट भरना सीख लिया है,
ए खुदा, अब हाथ फैलाने की फितरत छोड़ दी है मैंने,
क्योंकि भूख से जंग करना सीख लिया है मैंने..।

1 Like · 162 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
View all
You may also like:
अपना दिल
अपना दिल
Dr fauzia Naseem shad
"आया रे बुढ़ापा"
Dr Meenu Poonia
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
उसको भी प्यार की ज़रूरत है
उसको भी प्यार की ज़रूरत है
Aadarsh Dubey
काफी लोगो ने मेरे पढ़ने की तेहरिन को लेकर सवाल पूंछा
काफी लोगो ने मेरे पढ़ने की तेहरिन को लेकर सवाल पूंछा
पूर्वार्थ
प्यार की भाषा
प्यार की भाषा
Surinder blackpen
आँखों की कुछ तो नमी से डरते हैं
आँखों की कुछ तो नमी से डरते हैं
अंसार एटवी
"विजेता"
Dr. Kishan tandon kranti
कोना मेरे नाम का
कोना मेरे नाम का
Dr.Priya Soni Khare
सावधानी हटी दुर्घटना घटी
सावधानी हटी दुर्घटना घटी
Sanjay ' शून्य'
2403.पूर्णिका
2403.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
तुम रख न सकोगे मेरा तोहफा संभाल कर।
तुम रख न सकोगे मेरा तोहफा संभाल कर।
लक्ष्मी सिंह
कभी ज्ञान को पा इंसान भी, बुद्ध भगवान हो जाता है।
कभी ज्ञान को पा इंसान भी, बुद्ध भगवान हो जाता है।
Monika Verma
बड़ा हिज्र -हिज्र करता है तू ,
बड़ा हिज्र -हिज्र करता है तू ,
Rohit yadav
Hum khuch din bat nhi kiye apse.
Hum khuch din bat nhi kiye apse.
Sakshi Tripathi
Happy Holi
Happy Holi
अनिल अहिरवार"अबीर"
शिवकुमार बिलगरामी के बेहतरीन शे'र
शिवकुमार बिलगरामी के बेहतरीन शे'र
Shivkumar Bilagrami
KRISHANPRIYA
KRISHANPRIYA
Gunjan Sharma
I'm a basket full of secrets,
I'm a basket full of secrets,
Sukoon
अश्रु
अश्रु
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
दोहा-सुराज
दोहा-सुराज
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
*अतिक्रमण ( हिंदी गजल/गीतिका )*
*अतिक्रमण ( हिंदी गजल/गीतिका )*
Ravi Prakash
अक्सर सच्ची महोब्बत,
अक्सर सच्ची महोब्बत,
शेखर सिंह
थर्मामीटर / मुसाफ़िर बैठा
थर्मामीटर / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
नींद आए तो सोना नहीं है
नींद आए तो सोना नहीं है
कवि दीपक बवेजा
■ कविता-
■ कविता-
*Author प्रणय प्रभात*
सत्यमेव जयते
सत्यमेव जयते
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
विकास की जिस सीढ़ी पर
विकास की जिस सीढ़ी पर
Bhupendra Rawat
* बातें मन की *
* बातें मन की *
surenderpal vaidya
अच्छा कार्य करने वाला
अच्छा कार्य करने वाला
नेताम आर सी
Loading...