Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Aug 2023 · 1 min read

अपने क़द से

अपने क़द से कहां कोई बड़ा
होता है ।
जिसमें हो इंसानियत वह शख़्स
बड़ा होता है.।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
6 Likes · 138 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
हिन्दी
हिन्दी
लक्ष्मी सिंह
कभी लगे के काबिल हुँ मैं किसी मुकाम के लिये
कभी लगे के काबिल हुँ मैं किसी मुकाम के लिये
Sonu sugandh
वीर सुरेन्द्र साय
वीर सुरेन्द्र साय
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मैं तेरा श्याम बन जाऊं
मैं तेरा श्याम बन जाऊं
Devesh Bharadwaj
समय
समय
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
प्रेम.......................................................
प्रेम.......................................................
Swara Kumari arya
"जिन्दगी"
Dr. Kishan tandon kranti
असोक विजयदसमी
असोक विजयदसमी
Mahender Singh
"सत्य अमर है"
Ekta chitrangini
चाहता है जो
चाहता है जो
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
23/213. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/213. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
खुशियाँ
खुशियाँ
Dr Shelly Jaggi
एक बार फिर ।
एक बार फिर ।
Dhriti Mishra
आंगन को तरसता एक घर ....
आंगन को तरसता एक घर ....
ओनिका सेतिया 'अनु '
एक हसीं ख्वाब
एक हसीं ख्वाब
Mamta Rani
Extra people
Extra people
पूर्वार्थ
मेरे अंदर भी इक अमृता है
मेरे अंदर भी इक अमृता है
Shweta Soni
राजनीति के क़ायदे,
राजनीति के क़ायदे,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
तुम्हारी कहानी
तुम्हारी कहानी
PRATIK JANGID
सुबह की नींद सबको प्यारी होती है।
सुबह की नींद सबको प्यारी होती है।
Yogendra Chaturwedi
ग़ज़ल- तू फितरत ए शैतां से कुछ जुदा तो नहीं है- डॉ तबस्सुम जहां
ग़ज़ल- तू फितरत ए शैतां से कुछ जुदा तो नहीं है- डॉ तबस्सुम जहां
Dr Tabassum Jahan
भ्रूणहत्या
भ्रूणहत्या
Neeraj Agarwal
*आओ मिलकर नया साल मनाएं*
*आओ मिलकर नया साल मनाएं*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
*साइकिल (कुंडलिया)*
*साइकिल (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
*Success_Your_Goal*
*Success_Your_Goal*
Manoj Kushwaha PS
💐अज्ञात के प्रति-62💐
💐अज्ञात के प्रति-62💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Yash Mehra
Yash Mehra
Yash mehra
Exploring the Vast Dimensions of the Universe
Exploring the Vast Dimensions of the Universe
Shyam Sundar Subramanian
पुश्तैनी मकान.....
पुश्तैनी मकान.....
Awadhesh Kumar Singh
■ मुक्तक...
■ मुक्तक...
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...