Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 May 2024 · 1 min read

अपनी मसरूफियत का करके बहाना ,

अपनी मसरूफियत का करके बहाना ,
अपने फर्ज से जी चुराते हैं।
ऐसे अपनों का क्या फायदा ,
जो दुश्मनों जैसी चोट हमें पहुंचाते हैं ।

51 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from ओनिका सेतिया 'अनु '
View all
You may also like:
मन
मन
Happy sunshine Soni
1-अश्म पर यह तेरा नाम मैंने लिखा2- अश्म पर मेरा यह नाम तुमने लिखा (दो गीत) राधिका उवाच एवं कृष्ण उवाच
1-अश्म पर यह तेरा नाम मैंने लिखा2- अश्म पर मेरा यह नाम तुमने लिखा (दो गीत) राधिका उवाच एवं कृष्ण उवाच
Pt. Brajesh Kumar Nayak
रिश्तों का गणित
रिश्तों का गणित
Madhavi Srivastava
✍️ शेखर सिंह
✍️ शेखर सिंह
शेखर सिंह
*पंचचामर छंद*
*पंचचामर छंद*
नवल किशोर सिंह
आ अब लौट चलें.....!
आ अब लौट चलें.....!
VEDANTA PATEL
सजनी पढ़ लो गीत मिलन के
सजनी पढ़ लो गीत मिलन के
Satish Srijan
आ भी जाओ
आ भी जाओ
Surinder blackpen
बहुत खूबसूरत सुबह हो गई है।
बहुत खूबसूरत सुबह हो गई है।
surenderpal vaidya
चाहत 'तुम्हारा' नाम है, पर तुम्हें पाने की 'तमन्ना' मुझे हो
चाहत 'तुम्हारा' नाम है, पर तुम्हें पाने की 'तमन्ना' मुझे हो
Sukoon
अच्छा रहता
अच्छा रहता
Pratibha Pandey
THE B COMPANY
THE B COMPANY
Dhriti Mishra
भावुक हृदय
भावुक हृदय
Dr. Upasana Pandey
पितरों के लिए
पितरों के लिए
Deepali Kalra
2617.पूर्णिका
2617.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
"ये तन किराये का घर"
Dr. Kishan tandon kranti
*अंतर्मन में राम जी, रहिए सदा विराज (कुंडलिया)*
*अंतर्मन में राम जी, रहिए सदा विराज (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
दर-बदर की ठोकरें जिन्को दिखातीं राह हैं
दर-बदर की ठोकरें जिन्को दिखातीं राह हैं
Manoj Mahato
श्रम साधिका
श्रम साधिका
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
अब महान हो गए
अब महान हो गए
विक्रम कुमार
उसको फिर उससा
उसको फिर उससा
Dr fauzia Naseem shad
सत्संग
सत्संग
पूर्वार्थ
कसौटियों पर कसा गया व्यक्तित्व संपूर्ण होता है।
कसौटियों पर कसा गया व्यक्तित्व संपूर्ण होता है।
Neelam Sharma
जीवन में ऐश्वर्य के,
जीवन में ऐश्वर्य के,
sushil sarna
संसार का स्वरूप(3)
संसार का स्वरूप(3)
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
जीवन सुंदर गात
जीवन सुंदर गात
Kaushlendra Singh Lodhi Kaushal
मित्रता:समाने शोभते प्रीति।
मित्रता:समाने शोभते प्रीति।
Acharya Rama Nand Mandal
सत्यता वह खुशबू का पौधा है
सत्यता वह खुशबू का पौधा है
प्रेमदास वसु सुरेखा
बसंत बहार
बसंत बहार
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
करो पढ़ाई
करो पढ़ाई
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Loading...