Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 May 2024 · 1 min read

अन्तर्राष्टीय मज़दूर दिवस

अन्तर्राष्टीय मज़दूर दिवस

एक गलती तेरी, दुनिया ने सताया मुझको।
या खुदा तूने क्यों, मजदूर बनाया मुझको।

……..✍️ सत्य कुमार प्रेमी

41 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
धूल के फूल
धूल के फूल
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
सपनों को दिल में लिए,
सपनों को दिल में लिए,
Yogendra Chaturwedi
****शीतल प्रभा****
****शीतल प्रभा****
Kavita Chouhan
बेटी की शादी
बेटी की शादी
विजय कुमार अग्रवाल
पनघट और पगडंडी
पनघट और पगडंडी
Punam Pande
तानाशाह के मन में कोई बड़ा झाँसा पनप रहा है इन दिनों। देशप्र
तानाशाह के मन में कोई बड़ा झाँसा पनप रहा है इन दिनों। देशप्र
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
मां रा सपना
मां रा सपना
Rajdeep Singh Inda
3055.*पूर्णिका*
3055.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
एक ऐसी दुनिया बनाऊँगा ,
एक ऐसी दुनिया बनाऊँगा ,
Rohit yadav
#अज्ञानी_की_कलम
#अज्ञानी_की_कलम
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
भ्रम नेता का
भ्रम नेता का
Sanjay ' शून्य'
मुझे मालूम हैं ये रिश्तों की लकीरें
मुझे मालूम हैं ये रिश्तों की लकीरें
VINOD CHAUHAN
खुश्क आँखों पे क्यूँ यकीं होता नहीं
खुश्क आँखों पे क्यूँ यकीं होता नहीं
sushil sarna
तू है लबड़ा / MUSAFIR BAITHA
तू है लबड़ा / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
*चाटुकार*
*चाटुकार*
Dushyant Kumar
ना जाने
ना जाने
SHAMA PARVEEN
भाग्य निर्माता
भाग्य निर्माता
Shashi Mahajan
मोहब्बत
मोहब्बत
अखिलेश 'अखिल'
धोखा
धोखा
Paras Nath Jha
मुट्ठी में बन्द रेत की तरह
मुट्ठी में बन्द रेत की तरह
Dr. Kishan tandon kranti
अब तुझे रोने न दूँगा।
अब तुझे रोने न दूँगा।
Anil Mishra Prahari
"मोहे रंग दे"
Ekta chitrangini
मां स्कंदमाता
मां स्कंदमाता
Mukesh Kumar Sonkar
Shayari
Shayari
Sahil Ahmad
★बादल★
★बादल★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
तू  मेरी जान तू ही जिंदगी बन गई
तू मेरी जान तू ही जिंदगी बन गई
कृष्णकांत गुर्जर
नारी
नारी
Acharya Rama Nand Mandal
मुस्कुराना चाहते हो
मुस्कुराना चाहते हो
surenderpal vaidya
#आज_की_विनती
#आज_की_विनती
*प्रणय प्रभात*
Loading...