Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Feb 2023 · 1 min read

अनुभव के आधार पर, पहले थी पहचान

अनुभव के आधार पर, पहले थी पहचान
आज आय को देखकर, मिलता है सम्मान
मिलता है सम्मान , हुई दुनिया मायावी
नहीं देखते आयु,आज दौलत है हावी
कहे ‘अर्चना’ बात, पूजते हैं सब वैभव
एकाकी का दर्द, झेलता रहता अनुभव

17-02-2023
डॉअर्चना गुप्ता

1 Like · 799 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr Archana Gupta
View all
You may also like:
मास्टरजी ज्ञानों का दाता
मास्टरजी ज्ञानों का दाता
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
कविता _ रंग बरसेंगे
कविता _ रंग बरसेंगे
Manu Vashistha
मंजिल
मंजिल
Dr. Pradeep Kumar Sharma
हिन्दी दिवस
हिन्दी दिवस
मनोज कर्ण
यह समय / MUSAFIR BAITHA
यह समय / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
नवीन वर्ष (पञ्चचामर छन्द)
नवीन वर्ष (पञ्चचामर छन्द)
नाथ सोनांचली
बेटियाँ
बेटियाँ
Raju Gajbhiye
तुम्हे याद किये बिना सो जाऊ
तुम्हे याद किये बिना सो जाऊ
The_dk_poetry
दर्द के ऐसे सिलसिले निकले
दर्द के ऐसे सिलसिले निकले
Dr fauzia Naseem shad
गुहार
गुहार
Sonam Puneet Dubey
#डॉअरुणकुमारशास्त्री
#डॉअरुणकुमारशास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मातृभूमि पर तू अपना सर्वस्व वार दे
मातृभूमि पर तू अपना सर्वस्व वार दे
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
3308.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3308.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
*पिताजी को मुंडी लिपि आती थी*
*पिताजी को मुंडी लिपि आती थी*
Ravi Prakash
मै जो कुछ हु वही कुछ हु।
मै जो कुछ हु वही कुछ हु।
पूर्वार्थ
पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर को उनकी पुण्यतिथि पर शत शत नमन्।
पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर को उनकी पुण्यतिथि पर शत शत नमन्।
Anand Kumar
हौसला
हौसला
Sanjay ' शून्य'
मैं लिखता हूँ जो सोचता हूँ !
मैं लिखता हूँ जो सोचता हूँ !
DrLakshman Jha Parimal
2) “काग़ज़ की कश्ती”
2) “काग़ज़ की कश्ती”
Sapna Arora
“जो पानी छान कर पीते हैं,
“जो पानी छान कर पीते हैं,
शेखर सिंह
ओ मेरे गणपति महेश
ओ मेरे गणपति महेश
Swami Ganganiya
तेरे दिल की आवाज़ को हम धड़कनों में छुपा लेंगे।
तेरे दिल की आवाज़ को हम धड़कनों में छुपा लेंगे।
Phool gufran
■ श्री राधाष्टमी पर्व की मंगलकामनाएं।।
■ श्री राधाष्टमी पर्व की मंगलकामनाएं।।
*Author प्रणय प्रभात*
सफर
सफर
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
पुश्तैनी दौलत
पुश्तैनी दौलत
Satish Srijan
"मौत की सजा पर जीने की चाह"
Pushpraj Anant
मुझे कल्पनाओं से हटाकर मेरा नाता सच्चाई से जोड़ता है,
मुझे कल्पनाओं से हटाकर मेरा नाता सच्चाई से जोड़ता है,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
मां कुष्मांडा
मां कुष्मांडा
Mukesh Kumar Sonkar
कहां नाराजगी से डरते हैं।
कहां नाराजगी से डरते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
विषय:गुलाब
विषय:गुलाब
Harminder Kaur
Loading...