Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Aug 2023 · 1 min read

अनजान रिश्ते…

कुछ रिश्ते बड़े खास होते हैं
हमारी रूह के आसपास होते हैं
मीठी सी यादों के ख्वाब होते हैं
कुछ रिश्ते अनजान रिश्ते होते हैं।

सब पूछते हैं ? क्या
लगते हैं तुम्हारे वो
जो हमारी मुस्कुराहटों कि
वह वजह होते हैं
हमारी खुशी और गम के
साझेदार होते हैं
कुछ रिश्ते अनजान रिश्ते होते हैं।

उनसे ना कोई लेन-देन का
सरोकार होता है
उनसे न कोई तू तू मैं मैं का एहसास होता है
ना मन में कोई जलन होती है
बस एक फिक्र सी रहती है
इसी फिक्र में दोस्ती का
अपनापन होता है
इन्हीं रिश्तो का ही नाम
अनजान रिश्ते होता है।

हरमिंदर कौर
अमरोहा यूपी
मौलिक रचना

2 Likes · 451 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बिन बोले ही  प्यार में,
बिन बोले ही प्यार में,
sushil sarna
कलियुगी रिश्ते!
कलियुगी रिश्ते!
Saransh Singh 'Priyam'
84कोसीय नैमिष परिक्रमा
84कोसीय नैमिष परिक्रमा
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
"सुप्रभात"
Yogendra Chaturwedi
अंतस का तम मिट जाए
अंतस का तम मिट जाए
Shweta Soni
हृदय परिवर्तन जो 'बुद्ध' ने किया ..।
हृदय परिवर्तन जो 'बुद्ध' ने किया ..।
Buddha Prakash
Kabhi kabhi
Kabhi kabhi
Vandana maurya
खुद को खोने लगा जब कोई मुझ सा होने लगा।
खुद को खोने लगा जब कोई मुझ सा होने लगा।
शिव प्रताप लोधी
विश्व पर्यटन दिवस
विश्व पर्यटन दिवस
Neeraj Agarwal
मोरे मन-मंदिर....।
मोरे मन-मंदिर....।
Kanchan Khanna
* रचो निज शौर्य से अनुपम,जवानी की कहानी को【मुक्तक】*
* रचो निज शौर्य से अनुपम,जवानी की कहानी को【मुक्तक】*
Ravi Prakash
शरीर मोच खाती है कभी आपकी सोच नहीं यदि सोच भी मोच खा गई तो आ
शरीर मोच खाती है कभी आपकी सोच नहीं यदि सोच भी मोच खा गई तो आ
Rj Anand Prajapati
💐प्रेम कौतुक-340💐
💐प्रेम कौतुक-340💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"देखना हो तो"
Dr. Kishan tandon kranti
सत्य की खोज
सत्य की खोज
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
खालीपन
खालीपन
करन ''केसरा''
#मुक्तक-
#मुक्तक-
*Author प्रणय प्रभात*
Gairo ko sawarne me khuch aise
Gairo ko sawarne me khuch aise
Sakshi Tripathi
उसकी अदा
उसकी अदा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
गांव का दृश्य
गांव का दृश्य
Mukesh Kumar Sonkar
2880.*पूर्णिका*
2880.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
अगर मरने के बाद भी जीना चाहो,
अगर मरने के बाद भी जीना चाहो,
Ranjeet kumar patre
* बहुत खुशहाल है साम्राज्य उसका
* बहुत खुशहाल है साम्राज्य उसका
Shubham Pandey (S P)
इन फूलों से सीख ले मुस्कुराना
इन फूलों से सीख ले मुस्कुराना
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
"सत्य अमर है"
Ekta chitrangini
जीवन में कभी भी संत रूप में आए व्यक्ति का अनादर मत करें, क्य
जीवन में कभी भी संत रूप में आए व्यक्ति का अनादर मत करें, क्य
Sanjay ' शून्य'
भुला देना.....
भुला देना.....
A🇨🇭maanush
DR ARUN KUMAR SHASTRI
DR ARUN KUMAR SHASTRI
DR ARUN KUMAR SHASTRI
धार्मिक असहिष्णुता की बातें वह व्हाट्सप्प पर फैलाने लगा, जात
धार्मिक असहिष्णुता की बातें वह व्हाट्सप्प पर फैलाने लगा, जात
DrLakshman Jha Parimal
पुरुषो को प्रेम के मायावी जाल में फसाकर , उनकी कमौतेजन्न बढ़
पुरुषो को प्रेम के मायावी जाल में फसाकर , उनकी कमौतेजन्न बढ़
पूर्वार्थ
Loading...