Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 May 2016 · 1 min read

अनगिनत चाहत

हमारे दिल में रहती हैं , हमेशा अनगिनत चाहत
न लेने चैन देती ये , करें हर पल हमें आहत
न हर चाहा यहाँ मिलता , हमें मालूम है लेकिन
अगर इच्छायें पूरी हों , तो’ दिल पाता बहुत राहत

डॉ अर्चना गुप्ता

Language: Hindi
389 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr Archana Gupta
View all
You may also like:
हक़ीक़त का
हक़ीक़त का
Dr fauzia Naseem shad
खाओ जलेबी
खाओ जलेबी
surenderpal vaidya
लत / MUSAFIR BAITHA
लत / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
साँसों के संघर्ष से, देह गई जब हार ।
साँसों के संघर्ष से, देह गई जब हार ।
sushil sarna
ऐसा क्यूं है??
ऐसा क्यूं है??
Kanchan sarda Malu
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Harish Chandra Pande
तुम्हारे अवारा कुत्ते
तुम्हारे अवारा कुत्ते
Maroof aalam
Open mic Gorakhpur
Open mic Gorakhpur
Sandeep Albela
ईश्वर ने तो औरतों के लिए कोई अलग से जहां बनाकर नहीं भेजा। उस
ईश्वर ने तो औरतों के लिए कोई अलग से जहां बनाकर नहीं भेजा। उस
Annu Gurjar
भय
भय
Shyam Sundar Subramanian
" मँगलमय नव-वर्ष 2023 "
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
💐अज्ञात के प्रति-78💐
💐अज्ञात के प्रति-78💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
తెలుగు
తెలుగు
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
ओ! महानगर
ओ! महानगर
Punam Pande
आपके आसपास
आपके आसपास
Dr.Rashmi Mishra
*......इम्तहान बाकी है.....*
*......इम्तहान बाकी है.....*
Naushaba Suriya
शर्तों मे रह के इश्क़ करने से बेहतर है,
शर्तों मे रह के इश्क़ करने से बेहतर है,
पूर्वार्थ
#मुक्तक
#मुक्तक
*Author प्रणय प्रभात*
सुबह वक्त पर नींद खुलती नहीं
सुबह वक्त पर नींद खुलती नहीं
शिव प्रताप लोधी
23/187.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/187.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
नियोजित शिक्षक का भविष्य
नियोजित शिक्षक का भविष्य
साहिल
पहाड़ में गर्मी नहीं लगती घाम बहुत लगता है।
पहाड़ में गर्मी नहीं लगती घाम बहुत लगता है।
Brijpal Singh
अनेक मौसम
अनेक मौसम
Seema gupta,Alwar
गुरु कृपा
गुरु कृपा
Satish Srijan
किस पथ पर उसको जाना था
किस पथ पर उसको जाना था
Mamta Rani
जिंदगी जब जब हमें
जिंदगी जब जब हमें
ruby kumari
जागो जागो तुम,अपने अधिकारों के लिए
जागो जागो तुम,अपने अधिकारों के लिए
gurudeenverma198
ख़ामोशी से बातें करते है ।
ख़ामोशी से बातें करते है ।
Buddha Prakash
*राम हिंद की गौरव गरिमा, चिर वैभव के गान हैं (हिंदी गजल)*
*राम हिंद की गौरव गरिमा, चिर वैभव के गान हैं (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
चाहने वाले कम हो जाए तो चलेगा...।
चाहने वाले कम हो जाए तो चलेगा...।
Maier Rajesh Kumar Yadav
Loading...