Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Feb 2017 · 1 min read

— अत्याचार —

रोज रोज देख
कर मन तड़प
रहा है
बेजुबान पर
चला कर चाकू
वार हो रहा है
निहथे पर हमला
हर रोज हो रहा है
खून की नदियो
का व्यापार हो
रहा है
बेजुबान के साथ
साथ महिला पर
भी अत्याचार
घोर हो रहा है
आदमी अब खुद
ही शेर हो रहा है
कोई सोती पर
वार कर रहा है
कोई सरे राह
कत्ले आम कर
रहा है
क्या मिल रहा है
खून खराबा कर के
क्यूँ मौत को
इन्सान अपने
हाथ में धर रहा है
जीवन जीने का
हक अगर तुझे
है, तो तू उसका
हक क्यूँ छीन
रहा है, गर
चल जाये चाकू
तेरी भी गर्दन
पर, तो क्यूँ
नहीं ये सम्झ रहा है
देख देख कर
दुनिया की
ये लीला दिल
में नश्तर चुभो
रही है, हे उपर
वाले क्यूँ नहीं
इन जैसो को
बुद्धि सद बुद्धि
आ रही है…………..

अजीत तलवार

Language: Hindi
503 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
View all
You may also like:
करूँ तो क्या करूँ मैं भी ,
करूँ तो क्या करूँ मैं भी ,
DrLakshman Jha Parimal
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
आप और जीवन के सच
आप और जीवन के सच
Neeraj Agarwal
प्रतीक्षा
प्रतीक्षा
Shaily
राम पर हाइकु
राम पर हाइकु
Sandeep Pande
सुनो! बहुत मुहब्बत करते हो तुम मुझसे,
सुनो! बहुत मुहब्बत करते हो तुम मुझसे,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
3026.*पूर्णिका*
3026.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
* मुक्तक *
* मुक्तक *
surenderpal vaidya
उपमान (दृृढ़पद ) छंद - 23 मात्रा , ( 13- 10) पदांत चौकल
उपमान (दृृढ़पद ) छंद - 23 मात्रा , ( 13- 10) पदांत चौकल
Subhash Singhai
सिर्फ अपना उत्थान
सिर्फ अपना उत्थान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
जन्मदिन पर लिखे अशआर
जन्मदिन पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
‘ विरोधरस ‘---11. || विरोध-रस का आलंबनगत संचारी भाव || +रमेशराज
‘ विरोधरस ‘---11. || विरोध-रस का आलंबनगत संचारी भाव || +रमेशराज
कवि रमेशराज
"भोर की आस" हिन्दी ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
आप हँसते हैं तो हँसते क्यूँ है
आप हँसते हैं तो हँसते क्यूँ है
Shweta Soni
आकांक्षा तारे टिमटिमाते ( उल्का )
आकांक्षा तारे टिमटिमाते ( उल्का )
goutam shaw
बिलकुल सच है, व्यस्तता एक भ्रम है, दोस्त,
बिलकुल सच है, व्यस्तता एक भ्रम है, दोस्त,
पूर्वार्थ
"खुद के खिलाफ़"
Dr. Kishan tandon kranti
Converse with the powers
Converse with the powers
Dhriti Mishra
जब  मालूम है  कि
जब मालूम है कि
Neelofar Khan
हाँ, वह लड़की ऐसी थी
हाँ, वह लड़की ऐसी थी
gurudeenverma198
चांद का टुकड़ा
चांद का टुकड़ा
Santosh kumar Miri
पिता
पिता
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
दोहा -
दोहा -
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
आबूधाबी में हिंदू मंदिर
आबूधाबी में हिंदू मंदिर
Ghanshyam Poddar
देश और जनता~
देश और जनता~
दिनेश एल० "जैहिंद"
ज़िदादिली
ज़िदादिली
Shyam Sundar Subramanian
#आज_की_बात
#आज_की_बात
*प्रणय प्रभात*
कविता
कविता
Bodhisatva kastooriya
राज़-ए-इश्क़ कहाँ छुपाया जाता है
राज़-ए-इश्क़ कहाँ छुपाया जाता है
शेखर सिंह
¡¡¡●टीस●¡¡¡
¡¡¡●टीस●¡¡¡
Dr Manju Saini
Loading...