Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Aug 2023 · 1 min read

*अज्ञानी की कलम*

अज्ञानी की कलम
विध्नेश्वर को श्रद्धा से नमन कर।
बुद्धि विधाता के चरणों में रुझान कर१।।
पथिक पार्थवी अथक प्रयास कर।
पाता वहीं जो कठिन न्यास कर।२।।
जन्म दात्री मां का ध्यान किया कर।
रूखी सूखी मिलें प्रेम से खाये कर।।३।।
जीव धन्य हो सत्य संगति पाये कर।
करलो कर्म कछु नेकी कमाये कर।४।।
खूब बुजुर्ग गये हैं समझाये कर।
मधुर वाणी हर्षित जन हर्षाए कर।।५।।

जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झांसी उ•प्र•

346 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तितलियां
तितलियां
Adha Deshwal
अज़ल से इंतजार किसका है
अज़ल से इंतजार किसका है
Shweta Soni
2892.*पूर्णिका*
2892.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
निर्वात का साथी🙏
निर्वात का साथी🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
दोहा त्रयी. . . . .
दोहा त्रयी. . . . .
sushil sarna
आश्रित.......
आश्रित.......
Naushaba Suriya
चाय पार्टी
चाय पार्टी
Mukesh Kumar Sonkar
युग परिवर्तन
युग परिवर्तन
आनन्द मिश्र
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Style of love
Style of love
Otteri Selvakumar
दुनिया तभी खूबसूरत लग सकती है
दुनिया तभी खूबसूरत लग सकती है
ruby kumari
ज़िंदगी हम भी
ज़िंदगी हम भी
Dr fauzia Naseem shad
कर्म -पथ से ना डिगे वह आर्य है।
कर्म -पथ से ना डिगे वह आर्य है।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
आम की गुठली
आम की गुठली
Seema gupta,Alwar
मौहब्बत की नदियां बहा कर रहेंगे ।
मौहब्बत की नदियां बहा कर रहेंगे ।
Phool gufran
कद्र माँ-बाप की जिसके आशियाने में नहीं
कद्र माँ-बाप की जिसके आशियाने में नहीं
VINOD CHAUHAN
आंखों की नशीली बोलियां
आंखों की नशीली बोलियां
Surinder blackpen
প্রফুল্ল হৃদয় এবং হাস্যোজ্জ্বল চেহারা
প্রফুল্ল হৃদয় এবং হাস্যোজ্জ্বল চেহারা
Sakhawat Jisan
"याद रहे"
Dr. Kishan tandon kranti
"भीषण बाढ़ की वजह"
*प्रणय प्रभात*
जिम्मेदारियां दहलीज पार कर जाती है,
जिम्मेदारियां दहलीज पार कर जाती है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
सफलता
सफलता
Dr. Pradeep Kumar Sharma
जीने दो मुझे अपने वसूलों पर
जीने दो मुझे अपने वसूलों पर
goutam shaw
दृढ़ आत्मबल की दरकार
दृढ़ आत्मबल की दरकार
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
खाने को पैसे नहीं,
खाने को पैसे नहीं,
Kanchan Khanna
ठंड
ठंड
Ranjeet kumar patre
अपने चरणों की धूलि बना लो
अपने चरणों की धूलि बना लो
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
*मोदी (कुंडलिया)*
*मोदी (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
पर्यावरण
पर्यावरण
Madhavi Srivastava
Loading...