Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Feb 2023 · 1 min read

अज्ञात

वर्तमान अनिश्चित वातावरण,
असंभावित भविष्य चिंतन ,
पूर्वाग्रह एवं पूर्वानुमान व्यग्र मन ,
दिग्भ्रमित विचलित हृदय आंदोलन ,
यथार्थ परे कल्पना व्योम विचरण,
नियति- चक्र प्रभावित संघर्षपूर्ण जीवन,
संकट झेलता व्यथित साधारण मानव ,
किंकर्तव्यविमूढ़ त्रिशंकु परिस्थिति ,
अज्ञात दिशा प्रेरित जीवन परिणति।

Language: Hindi
1 Like · 213 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Shyam Sundar Subramanian
View all
You may also like:
दोस्त.............एक विश्वास
दोस्त.............एक विश्वास
Neeraj Agarwal
औकात
औकात
Dr.Priya Soni Khare
शापित है यह जीवन अपना।
शापित है यह जीवन अपना।
Arvind trivedi
अगर प्रेम में दर्द है तो
अगर प्रेम में दर्द है तो
Sonam Puneet Dubey
तेरा ग़म
तेरा ग़म
Dipak Kumar "Girja"
*रामनगर के विश्व प्रसिद्ध रिजॉर्ट*
*रामनगर के विश्व प्रसिद्ध रिजॉर्ट*
Ravi Prakash
कोई मरहम
कोई मरहम
Dr fauzia Naseem shad
क्या हुआ ???
क्या हुआ ???
Shaily
गुस्सा सातवें आसमान पर था
गुस्सा सातवें आसमान पर था
सिद्धार्थ गोरखपुरी
When you become conscious of the nature of God in you, your
When you become conscious of the nature of God in you, your
पूर्वार्थ
ये घड़ी की टिक-टिक को मामूली ना समझो साहब
ये घड़ी की टिक-टिक को मामूली ना समझो साहब
शेखर सिंह
ज़रूरतमंद की मदद
ज़रूरतमंद की मदद
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
आईना मुझसे मेरी पहली सी सूरत  माँगे ।
आईना मुझसे मेरी पहली सी सूरत माँगे ।
Neelam Sharma
ज़रा इतिहास तुम रच दो
ज़रा इतिहास तुम रच दो "
DrLakshman Jha Parimal
धुआँ सी ज़िंदगी
धुआँ सी ज़िंदगी
Dr. Rajeev Jain
"तेरे बारे में"
Dr. Kishan tandon kranti
काम क्रोध मद लोभ के,
काम क्रोध मद लोभ के,
sushil sarna
2834. *पूर्णिका*
2834. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मन के सवालों का जवाब नही
मन के सवालों का जवाब नही
भरत कुमार सोलंकी
आत्महत्या कर के भी, मैं जिंदा हूं,
आत्महत्या कर के भी, मैं जिंदा हूं,
Pramila sultan
पिताश्री
पिताश्री
Bodhisatva kastooriya
महाकाल भोले भंडारी|
महाकाल भोले भंडारी|
Vedha Singh
जय हो भारत देश हमारे
जय हो भारत देश हमारे
Mukta Rashmi
मसरूफियत बढ़ गई है
मसरूफियत बढ़ गई है
Harminder Kaur
एक कहानी लिख डाली.....✍️
एक कहानी लिख डाली.....✍️
singh kunwar sarvendra vikram
जल बचाकर
जल बचाकर
surenderpal vaidya
जिंदगी है बहुत अनमोल
जिंदगी है बहुत अनमोल
gurudeenverma198
🍂🍂🍂🍂*अपना गुरुकुल*🍂🍂🍂🍂
🍂🍂🍂🍂*अपना गुरुकुल*🍂🍂🍂🍂
Dr. Vaishali Verma
चुनिंदा बाल कहानियाँ (पुस्तक, बाल कहानी संग्रह)
चुनिंदा बाल कहानियाँ (पुस्तक, बाल कहानी संग्रह)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
हो सकता है कि अपनी खुशी के लिए कभी कभी कुछ प्राप्त करने की ज
हो सकता है कि अपनी खुशी के लिए कभी कभी कुछ प्राप्त करने की ज
Paras Nath Jha
Loading...