Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Feb 2024 · 1 min read

अज़ीज़ टुकड़ों और किश्तों में नज़र आते हैं

इस दरिंदगी के ग़ुबार में
अपने अज़ीज़ टुकड़ों
और किश्तों में नज़र आते हैं

धमाकों से फैली इस धुँध में
वो सर्दियों सी ठंडक नहीं होती
ज़िस्म और ज़ेहन – सभी जल जाते हैं
दस्तानों की ज़रूरत नहीं होती

इस धुँध के छटनें पर घास पे फैली
ओस की बूँदे नहीं
लहू के छींटे नज़र आते हैं

जब ढूँढते है अपनों को
तो इस दरिंदगी के फैले ग़ुबार में
तो बस अधजले जूते – टूटी चप्पलें –
कुछ बँद – खुली आँखें
लोगों की पहचान बदल जाती है

अपने अज़ीज़ तो बस टुकड़ों
और किश्तों में नज़र आते हैं

Language: Hindi
50 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
किरदार अगर रौशन है तो
किरदार अगर रौशन है तो
shabina. Naaz
"ईर्ष्या"
Dr. Kishan tandon kranti
दलित साहित्यकार कैलाश चंद चौहान की साहित्यिक यात्रा : एक वर्णन
दलित साहित्यकार कैलाश चंद चौहान की साहित्यिक यात्रा : एक वर्णन
Dr. Narendra Valmiki
I want to tell you something–
I want to tell you something–
पूर्वार्थ
होली की आयी बहार।
होली की आयी बहार।
Anil Mishra Prahari
तुम भी 2000 के नोट की तरह निकले,
तुम भी 2000 के नोट की तरह निकले,
Vishal babu (vishu)
अध्यापकों का स्थानांतरण (संस्मरण)
अध्यापकों का स्थानांतरण (संस्मरण)
Ravi Prakash
लिखना है मुझे वह सब कुछ
लिखना है मुझे वह सब कुछ
पूनम कुमारी (आगाज ए दिल)
दस्ताने
दस्ताने
Seema gupta,Alwar
ना जाने कौन सी डिग्रियाँ है तुम्हारे पास
ना जाने कौन सी डिग्रियाँ है तुम्हारे पास
Gouri tiwari
शूद्र व्यवस्था, वैदिक धर्म की
शूद्र व्यवस्था, वैदिक धर्म की
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
उफ़ तेरी ये अदायें सितम ढा रही है।
उफ़ तेरी ये अदायें सितम ढा रही है।
Phool gufran
सिर्फ अपना उत्थान
सिर्फ अपना उत्थान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
I sit at dark to bright up in the sky 😍 by sakshi
I sit at dark to bright up in the sky 😍 by sakshi
Sakshi Tripathi
दाता
दाता
Sanjay ' शून्य'
जुगनू
जुगनू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मोल
मोल
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
#मुक्तक
#मुक्तक
*Author प्रणय प्रभात*
Price less मोहब्बत 💔
Price less मोहब्बत 💔
Rohit yadav
शिक्षा मे भले ही पीछे हो भारत
शिक्षा मे भले ही पीछे हो भारत
शेखर सिंह
💐प्रेम कौतुक-458💐
💐प्रेम कौतुक-458💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जन्म दिवस
जन्म दिवस
Aruna Dogra Sharma
बात मेरी मान लो - कविता
बात मेरी मान लो - कविता
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
🙏 गुरु चरणों की धूल 🙏
🙏 गुरु चरणों की धूल 🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
2449.पूर्णिका
2449.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
माँ दुर्गा की नारी शक्ति
माँ दुर्गा की नारी शक्ति
कवि रमेशराज
‘’ हमनें जो सरताज चुने है ,
‘’ हमनें जो सरताज चुने है ,
Vivek Mishra
मैं
मैं
Artist Sudhir Singh (सुधीरा)
फकीरी/दीवानों की हस्ती
फकीरी/दीवानों की हस्ती
लक्ष्मी सिंह
(हमसफरी की तफरी)
(हमसफरी की तफरी)
Sangeeta Beniwal
Loading...