Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

** अजब मुस्कुराहट **

इस अजब मुस्कुराहट पे तो ये दिल वारा है
कौन जाने अब फिर भी ये दिल कुं -वारा है
नाज़ – नख़रे भी तुम्हारे कितने अजब हैं
शायद ये दिल अज़ब- गज़ब तुम पे वारा है ।।

. ?मधुप बैरागी

107 Views
You may also like:
मंजिल
AMRESH KUMAR VERMA
पत्नियों की फरमाइशें (हास्य व्यंग)
Ram Krishan Rastogi
दिल से निकले हुए कुछ मुक्तक
Ram Krishan Rastogi
वृक्ष बोल उठे..!
Prabhudayal Raniwal
राहतें ना थी।
Taj Mohammad
महाप्रभु वल्लभाचार्य जयंती
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बुलंद सोच
Dr. Alpa H. Amin
शांत वातावरण
AMRESH KUMAR VERMA
मां की महानता
Satpallm1978 Chauhan
" शीतल कूलर
Dr Meenu Poonia
बहुआयामी वात्सल्य दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मैं आज की बेटी हूं।
Taj Mohammad
Where is Humanity
Dheerendra Panchal
महान है मेरे पिता
gpoddarmkg
बगिया जोखीराम में श्री चंद्र सतगुरु की आरती
Ravi Prakash
मन्नू जी की स्मृति में दोहे (श्रद्धा सुमन)
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बचपन में थे सवा शेर
VINOD KUMAR CHAUHAN
नन्हें फूलों की नादानियाँ
DESH RAJ
*योग (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
शब्दों से परे
Mahendra Rai
हायकु
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
मुक्तक(मंच)
Dr Archana Gupta
💐प्रेम की राह पर-53💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पिता
Neha Sharma
बना कुंच से कोंच,रेल-पथ विश्रामालय।।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
✍️✍️ए जिंदगी✍️✍️
"अशांत" शेखर
अधजल गगरी छलकत जाए
Vishnu Prasad 'panchotiya'
साल गिरह
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
बारिश हमसे रूढ़ गई
Dr. Alpa H. Amin
रिश्तों की डोर
मनोज कर्ण
Loading...