Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Dec 2022 · 1 min read

Writing Challenge- दरवाजा (Door)

आज का विषय है दरवाजा (Door)

इस विषय पर किसी भी भाषा में एक नयी कविता, कहानी या संस्मरण लिखिए।

अपनी पोस्ट में Daily Writing Challenge टैग अवश्य जोड़ें।

यह कोई प्रतियोगिता नहीं है। आपको लिखने की प्रेरणा देने के लिए हम हर दिन एक नया विषय लेकर आते हैं।

2 Likes · 314 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
समय
समय
Paras Nath Jha
*
*"हिंदी"*
Shashi kala vyas
तेरे मेरे बीच में,
तेरे मेरे बीच में,
नेताम आर सी
दर्द -ऐ सर हुआ सब कुछ भुलाकर आये है ।
दर्द -ऐ सर हुआ सब कुछ भुलाकर आये है ।
Phool gufran
स्मृतियाँ
स्मृतियाँ
Dr. Upasana Pandey
आप सच बताइयेगा
आप सच बताइयेगा
शेखर सिंह
---माँ---
---माँ---
Rituraj shivem verma
आँखों में अब बस तस्वीरें मुस्कुराये।
आँखों में अब बस तस्वीरें मुस्कुराये।
Manisha Manjari
कितने अच्छे भाव है ना, करूणा, दया, समर्पण और साथ देना। पर जब
कितने अच्छे भाव है ना, करूणा, दया, समर्पण और साथ देना। पर जब
पूर्वार्थ
■ 80 फीसदी मुफ्तखोरों की सोच।
■ 80 फीसदी मुफ्तखोरों की सोच।
*प्रणय प्रभात*
आज के दौर
आज के दौर
$úDhÁ MãÚ₹Yá
बाल कविता: लाल भारती माँ के हैं हम
बाल कविता: लाल भारती माँ के हैं हम
नाथ सोनांचली
जीतेंगे हम, हारेगा कोरोना
जीतेंगे हम, हारेगा कोरोना
Dr. Pradeep Kumar Sharma
* श्री ज्ञानदायिनी स्तुति *
* श्री ज्ञानदायिनी स्तुति *
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
हे मानव! प्रकृति
हे मानव! प्रकृति
साहित्य गौरव
राजा रंक फकीर
राजा रंक फकीर
Harminder Kaur
छिपे दुश्मन
छिपे दुश्मन
Dr. Rajeev Jain
भालू,बंदर,घोड़ा,तोता,रोने वाली गुड़िया
भालू,बंदर,घोड़ा,तोता,रोने वाली गुड़िया
Shweta Soni
सितम फिरदौस ना जानो
सितम फिरदौस ना जानो
प्रेमदास वसु सुरेखा
बरसात
बरसात
Swami Ganganiya
दोहा
दोहा
गुमनाम 'बाबा'
"दुआ"
Dr. Kishan tandon kranti
"कौन अपने कौन पराये"
Yogendra Chaturwedi
शिकायत है हमें लेकिन शिकायत कर नहीं सकते।
शिकायत है हमें लेकिन शिकायत कर नहीं सकते।
Neelam Sharma
★HAPPY FATHER'S DAY ★
★HAPPY FATHER'S DAY ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
उगाएँ प्रेम की फसलें, बढ़ाएँ खूब फुलवारी।
उगाएँ प्रेम की फसलें, बढ़ाएँ खूब फुलवारी।
डॉ.सीमा अग्रवाल
👩‍🌾कृषि दिवस👨‍🌾
👩‍🌾कृषि दिवस👨‍🌾
Dr. Vaishali Verma
लौट आओ ना
लौट आओ ना
VINOD CHAUHAN
12, कैसे कैसे इन्सान
12, कैसे कैसे इन्सान
Dr .Shweta sood 'Madhu'
कुछ लिखा हैं तुम्हारे लिए, तुम सुन पाओगी क्या
कुछ लिखा हैं तुम्हारे लिए, तुम सुन पाओगी क्या
Writer_ermkumar
Loading...