“things could change”

I wish I could change the circumstances of life,
I could change the emotion of my heart.

It was only for two moments, but never forgets,
He could change own small meeting.

At every step people point fingers at me, I can change my mind about the cruel world.

Who pricks like a cob in my ear,
I would have changed all of those people’s questions.

Hey! God would have given me one chance, I would know to change this deteriorating situation of mine.

Self composed and original –
Alok Pandey Garoth Wale

2 Likes · 2 Comments · 332 Views
You may also like:
💐💐प्रेम की राह पर-19💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
उम्मीद की रोशनी में।
Taj Mohammad
【24】लिखना नहीं चाहता था [ कोरोना ]
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
मेरे बुद्ध महान !
मनोज कर्ण
श्रीराम
सुरेखा कादियान 'सृजना'
उसके मेरे दरमियाँ खाई ना थी
Khalid Nadeem Budauni
चांदनी में बैठते हैं।
Taj Mohammad
श्रमिक जो हूँ मैं तो...
मनोज कर्ण
महँगाई
आकाश महेशपुरी
झरने और कवि का वार्तालाप
Ram Krishan Rastogi
*अंतिम प्रणाम ! डॉक्टर मीना नकवी*
Ravi Prakash
वर्तमान परिवेश और बच्चों का भविष्य
Mahender Singh Hans
"एक नज़्म लिख रहा हूँ"
Lohit Tamta
प्रयास
Dr.sima
पिता
pradeep nagarwal
बरसात की छतरी
Buddha Prakash
गम हो या हो खुशी।
Taj Mohammad
हाइकु:(कोरोना)
Prabhudayal Raniwal
मजदूर_दिवस_पर_विशेष
संजीव शुक्ल 'सचिन'
बाबासाहेब 'अंबेडकर '
Buddha Prakash
The Sacrifice of Ravana
Abhineet Mittal
(स्वतंत्रता की रक्षा)
Prabhudayal Raniwal
जीत-हार में भेद ना,
Pt. Brajesh Kumar Nayak
""वक्त ""
Ray's Gupta
बड़ा भाई बोल रहा हूं
Satpallm1978 Chauhan
कलियों को फूल बनते देखा है।
Taj Mohammad
माँ दुर्गे!
Anamika Singh
सितम देखते हैं by Vinit Singh Shayar
Vinit Singh
राम नाम ही परम सत्य है।
Anamika Singh
ऐसी बानी बोलिये
अरशद रसूल /Arshad Rasool
Loading...