Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Nov 2022 · 1 min read

The day I decided to hold your hand.

The day I decided to hold your hand,
The risk I took with my heart, I did understand.
I knew any time you could get orders from your command,
And you would leave any moment, in between anything we had planned.
Yeah, I shook from the inside, when you left a tiny massage, from where you stand.
But I know you had been trained and taken the oath to protect our land.
Each hour was passing slowly and the anxiety was gradually becoming grand.
Still, I knew that the faith I have in you and HIM was not going to be tanned.
That morning when I heard your voice in the chaos of the chopper’s fan.
I was unable to hold back the tears, which I had strictly banned.
Even though I knew that I have to face the situation all over again,
I will always choose you over everything and everyone, even If I have to meet you on another plane.

1 Like · 207 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Manisha Manjari
View all
You may also like:
💜💠💠💠💜💠💠💠💜
💜💠💠💠💜💠💠💠💜
Manoj Kushwaha PS
करम के नांगर  ला भूत जोतय ।
करम के नांगर ला भूत जोतय ।
Lakhan Yadav
दिल के किसी कोने में अधुरी ख्वाइशों का जमघट हैं ।
दिल के किसी कोने में अधुरी ख्वाइशों का जमघट हैं ।
Ashwini sharma
जो संघर्ष की राह पर चलते हैं, वही लोग इतिहास रचते हैं।।
जो संघर्ष की राह पर चलते हैं, वही लोग इतिहास रचते हैं।।
Lokesh Sharma
2740. *पूर्णिका*
2740. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
एक कतरा प्यार
एक कतरा प्यार
Srishty Bansal
वेदना की संवेदना
वेदना की संवेदना
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
पहला प्यार नहीं बदला...!!
पहला प्यार नहीं बदला...!!
Ravi Betulwala
कविता
कविता
Rambali Mishra
तुम्हीं सुनोगी कोई सुनता नहीं है
तुम्हीं सुनोगी कोई सुनता नहीं है
DrLakshman Jha Parimal
ज़िंदगी चाँद सा नहीं करना
ज़िंदगी चाँद सा नहीं करना
Shweta Soni
इच्छा और परीक्षा
इच्छा और परीक्षा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
बदचलन (हिंदी उपन्यास)
बदचलन (हिंदी उपन्यास)
Shwet Kumar Sinha
शेखर सिंह
शेखर सिंह
शेखर सिंह
लिख दो किताबों पर मां और बापू का नाम याद आए तो पढ़ो सुबह दोप
लिख दो किताबों पर मां और बापू का नाम याद आए तो पढ़ो सुबह दोप
★ IPS KAMAL THAKUR ★
#शेर
#शेर
*प्रणय प्रभात*
जब मरहम हीं ज़ख्मों की सजा दे जाए, मुस्कराहट आंसुओं की सदा दे जाए।
जब मरहम हीं ज़ख्मों की सजा दे जाए, मुस्कराहट आंसुओं की सदा दे जाए।
Manisha Manjari
हंसगति
हंसगति
डॉ.सीमा अग्रवाल
धिक्कार
धिक्कार
Shekhar Chandra Mitra
उफ़ तेरी ये अदायें सितम ढा रही है।
उफ़ तेरी ये अदायें सितम ढा रही है।
Phool gufran
सत्य से विलग न ईश्वर है
सत्य से विलग न ईश्वर है
Udaya Narayan Singh
दोहे- अनुराग
दोहे- अनुराग
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
पल्लवित प्रेम
पल्लवित प्रेम
Er.Navaneet R Shandily
किस दौड़ का हिस्सा बनाना चाहते हो।
किस दौड़ का हिस्सा बनाना चाहते हो।
Sanjay ' शून्य'
हौंसले को समेट कर मेघ बन
हौंसले को समेट कर मेघ बन
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
Just a duty-bound Hatred | by Musafir Baitha
Just a duty-bound Hatred | by Musafir Baitha
Dr MusafiR BaithA
कलम की दुनिया
कलम की दुनिया
Dr. Vaishali Verma
भैया  के माथे तिलक लगाने बहना आई दूर से
भैया के माथे तिलक लगाने बहना आई दूर से
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
बस गया भूतों का डेरा
बस गया भूतों का डेरा
Buddha Prakash
"पहचान"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...