Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Aug 2023 · 1 min read

Sometimes we feel like a colourless wall,

Sometimes we feel like a colourless wall,
Instead of many colours around us,
We are left fade and hopeless.
Sometimes , we feel like a star,
We feel worst and lonely,
Among the herds of people.
Sometime we feel like a wilted bud,
Which have to be detached one day,
From its entire environment.
Sometimes the feeling of disappointment,
Are more stronger than anything else.
Sometime our expressions are too short,
That our experience cannot fit into it.

336 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
या इलाही फ़ैसला कर दे….
या इलाही फ़ैसला कर दे….
parvez khan
रामराज्य
रामराज्य
कार्तिक नितिन शर्मा
ओ मेरे गणपति महेश
ओ मेरे गणपति महेश
Swami Ganganiya
बादल
बादल
Shankar suman
Being with and believe with, are two pillars of relationships
Being with and believe with, are two pillars of relationships
Sanjay ' शून्य'
जिस तरीके से तुम हो बुलंदी पे अपने
जिस तरीके से तुम हो बुलंदी पे अपने
सिद्धार्थ गोरखपुरी
हिंदुस्तान जिंदाबाद
हिंदुस्तान जिंदाबाद
Mahmood Alam
बेवफा, जुल्मी💔 पापा की परी, अगर तेरे किए वादे सच्चे होते....
बेवफा, जुल्मी💔 पापा की परी, अगर तेरे किए वादे सच्चे होते....
SPK Sachin Lodhi
सैलाब .....
सैलाब .....
sushil sarna
हममें आ जायेंगी बंदिशे
हममें आ जायेंगी बंदिशे
Pratibha Pandey
शिकवा गिला शिकायतें
शिकवा गिला शिकायतें
Dr fauzia Naseem shad
उदर क्षुधा
उदर क्षुधा
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
चंद्रयान-3
चंद्रयान-3
Mukesh Kumar Sonkar
दीप जलते रहें - दीपक नीलपदम्
दीप जलते रहें - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
मेहनत
मेहनत
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मुहब्बत ने मुहब्बत से सदाक़त सीख ली प्रीतम
मुहब्बत ने मुहब्बत से सदाक़त सीख ली प्रीतम
आर.एस. 'प्रीतम'
जब आए शरण विभीषण तो प्रभु ने लंका का राज दिया।
जब आए शरण विभीषण तो प्रभु ने लंका का राज दिया।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
Bundeli Doha - birra
Bundeli Doha - birra
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
माँ की दुआ इस जगत में सबसे बड़ी शक्ति है।
माँ की दुआ इस जगत में सबसे बड़ी शक्ति है।
लक्ष्मी सिंह
त्वमेव जयते
त्वमेव जयते
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बोलो बोलो हर हर महादेव बोलो
बोलो बोलो हर हर महादेव बोलो
gurudeenverma198
3173.*पूर्णिका*
3173.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
रोज हमको सताना गलत बात है
रोज हमको सताना गलत बात है
कृष्णकांत गुर्जर
👌आह्वान👌
👌आह्वान👌
*प्रणय प्रभात*
श्वान संवाद
श्वान संवाद
Shyam Sundar Subramanian
शिकायत है हमें लेकिन शिकायत कर नहीं सकते।
शिकायत है हमें लेकिन शिकायत कर नहीं सकते।
Neelam Sharma
जो भी मिलता है उससे हम
जो भी मिलता है उससे हम
Shweta Soni
जिंदगी को बोझ मान
जिंदगी को बोझ मान
भरत कुमार सोलंकी
*नया साल*
*नया साल*
Dushyant Kumar
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Phool gufran
Loading...