Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Sep 2022 · 1 min read

Shyari

तुम और तुम्हारी यादें

हर बार मेरे दरवाजे की चौखट पर दस्तक दे जाती हैं
उफ्फ तुम्हारी ये यादें !

Language: Hindi
196 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तारीफ किसकी करूं
तारीफ किसकी करूं
कवि दीपक बवेजा
मानव मूल्य शर्मसार हुआ
मानव मूल्य शर्मसार हुआ
Bodhisatva kastooriya
धैर्य धरोगे मित्र यदि, सब कुछ होता जाय
धैर्य धरोगे मित्र यदि, सब कुछ होता जाय
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
यदि चाहो मधुरस रिश्तों में
यदि चाहो मधुरस रिश्तों में
संजीव शुक्ल 'सचिन'
माँ का घर
माँ का घर
Pratibha Pandey
मुनादी कर रहे हैं (हिंदी गजल/ गीतिका)
मुनादी कर रहे हैं (हिंदी गजल/ गीतिका)
Ravi Prakash
क़यामत
क़यामत
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
राम को कैसे जाना जा सकता है।
राम को कैसे जाना जा सकता है।
Yogi Yogendra Sharma : Motivational Speaker
"ठीक है कि भड़की हुई आग
*Author प्रणय प्रभात*
चाहे जितनी हो हिमालय की ऊँचाई
चाहे जितनी हो हिमालय की ऊँचाई
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
वैसे अपने अपने विचार है
वैसे अपने अपने विचार है
शेखर सिंह
2753. *पूर्णिका*
2753. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
चले ससुराल पँहुचे हवालात
चले ससुराल पँहुचे हवालात
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Quote...
Quote...
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
कितनी सलाखें,
कितनी सलाखें,
Surinder blackpen
Quote Of The Day
Quote Of The Day
Saransh Singh 'Priyam'
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
परफेक्ट बनने के लिए सबसे पहले खुद में झांकना पड़ता है, स्वयं
परफेक्ट बनने के लिए सबसे पहले खुद में झांकना पड़ता है, स्वयं
Seema gupta,Alwar
i always ask myself to be worthy of things, of the things th
i always ask myself to be worthy of things, of the things th
पूर्वार्थ
मुझे चाहिए एक दिल
मुझे चाहिए एक दिल
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मेरी कलम से…
मेरी कलम से…
Anand Kumar
वक़्त का सबक़
वक़्त का सबक़
Shekhar Chandra Mitra
पुलिस बनाम लोकतंत्र (व्यंग्य) +रमेशराज
पुलिस बनाम लोकतंत्र (व्यंग्य) +रमेशराज
कवि रमेशराज
**मातृभूमि**
**मातृभूमि**
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
मीना
मीना
Shweta Soni
तितली रानी (बाल कविता)
तितली रानी (बाल कविता)
नाथ सोनांचली
*** आकांक्षा : एक पल्लवित मन...! ***
*** आकांक्षा : एक पल्लवित मन...! ***
VEDANTA PATEL
चंद हाईकु
चंद हाईकु
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मिसाल उन्हीं की बनती है,
मिसाल उन्हीं की बनती है,
Dr. Man Mohan Krishna
Loading...