Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Nov 2023 · 1 min read

#justareminderekabodhbalak

#justareminderekabodhbalak

कभी सोच कर देखना मानवता के लिए सिर्फ एक पल को ठहर कर अपनी तमाम परेशानियों से हट कर आपका जन्म – क्यूँ हुआ , किस मकसद से हुआ , आपका वर्तमान स्वरूप अन्य सभी से भिन्न क्यूँ , बस एक पल देखिए शायद सम्पूर्ण जीवन रूपांतरित हो जाये , ये जो जीवन आप अभी जी रहे , शायद ये खिल जाये – एक पुष्प की तरह शायद – कुछ खुशबू महक जाये – — शायद

66 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from DR ARUN KUMAR SHASTRI
View all
You may also like:
तेरे बिछड़ने पर लिख रहा हूं ये गजल बेदर्द,
तेरे बिछड़ने पर लिख रहा हूं ये गजल बेदर्द,
Sahil Ahmad
Emerging Water Scarcity Problem in Urban Areas
Emerging Water Scarcity Problem in Urban Areas
Shyam Sundar Subramanian
Legal Quote
Legal Quote
GOVIND UIKEY
मोहब्बत से जिए जाना ज़रूरी है ज़माने में
मोहब्बत से जिए जाना ज़रूरी है ज़माने में
Johnny Ahmed 'क़ैस'
रिश्तों का एक उचित मूल्य💙👭👏👪
रिश्तों का एक उचित मूल्य💙👭👏👪
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
राजस्थान में का बा
राजस्थान में का बा
gurudeenverma198
#दोहा
#दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
प्यार में ना जाने क्या-क्या होता है ?
प्यार में ना जाने क्या-क्या होता है ?
Buddha Prakash
******जय श्री खाटूश्याम जी की*******
******जय श्री खाटूश्याम जी की*******
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
नया सपना
नया सपना
Kanchan Khanna
1) आखिर क्यों ?
1) आखिर क्यों ?
पूनम झा 'प्रथमा'
'ਸਾਜਿਸ਼'
'ਸਾਜਿਸ਼'
विनोद सिल्ला
भले कठिन है ज़िन्दगी, जीना खुलके यार
भले कठिन है ज़िन्दगी, जीना खुलके यार
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ऊपर बैठा नील गगन में भाग्य सभी का लिखता है
ऊपर बैठा नील गगन में भाग्य सभी का लिखता है
Anil Mishra Prahari
हर बला से दूर रखता,
हर बला से दूर रखता,
Satish Srijan
मनीआर्डर से ज्याद...
मनीआर्डर से ज्याद...
Amulyaa Ratan
प्रणय
प्रणय
Neelam Sharma
शायरी - संदीप ठाकुर
शायरी - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
घमण्ड बता देता है पैसा कितना है
घमण्ड बता देता है पैसा कितना है
Ranjeet kumar patre
ग़ज़ल सगीर
ग़ज़ल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
बाग़ी
बाग़ी
Shekhar Chandra Mitra
किसी मुस्क़ान की ख़ातिर ज़माना भूल जाते हैं
किसी मुस्क़ान की ख़ातिर ज़माना भूल जाते हैं
आर.एस. 'प्रीतम'
सब अपने नसीबों का
सब अपने नसीबों का
Dr fauzia Naseem shad
कभी आंख मारना कभी फ्लाइंग किस ,
कभी आंख मारना कभी फ्लाइंग किस ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
कुछ लिखा हैं तुम्हारे लिए, तुम सुन पाओगी क्या
कुछ लिखा हैं तुम्हारे लिए, तुम सुन पाओगी क्या
Writer_ermkumar
शादी   (कुंडलिया)
शादी (कुंडलिया)
Ravi Prakash
💐प्रेम कौतुक-344💐
💐प्रेम कौतुक-344💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"जेब्रा"
Dr. Kishan tandon kranti
हिन्दुत्व_एक सिंहावलोकन
हिन्दुत्व_एक सिंहावलोकन
मनोज कर्ण
2324.पूर्णिका
2324.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
Loading...