Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Feb 2023 · 1 min read

Jis waqt dono waqt mile

Jis waqt dono waqt mile
Us waqt duaao🤲 ke liye jo hath uthte
Kyu na phir
Us ki ummido ke phool khile ..🌺🌺🌺🌺🌺
ShabinaZ

129 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.

Books from shabina. Naaz

You may also like:
प्रणय 8
प्रणय 8
Ankita Patel
जिंदगी क्या है?
जिंदगी क्या है?
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
Sometimes
Sometimes
Vandana maurya
Maine anshan jari rakha
Maine anshan jari rakha
Sakshi Tripathi
#justareminderekabodhbalak
#justareminderekabodhbalak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*देना इतना आसान नहीं है*
*देना इतना आसान नहीं है*
Seema Verma
मैं होता डी एम
मैं होता डी एम
Satish Srijan
लटक गयी डालियां
लटक गयी डालियां
ashok babu mahour
धूल
धूल
नन्दलाल सुथार "राही"
“ अपने प्रशंसकों और अनुयायियों को सम्मान दें
“ अपने प्रशंसकों और अनुयायियों को सम्मान दें"
DrLakshman Jha Parimal
आँखें दरिया-सागर-झील नहीं,
आँखें दरिया-सागर-झील नहीं,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आओ अब लौट चलें वह देश ..।
आओ अब लौट चलें वह देश ..।
Buddha Prakash
खुल के सच को अगर कहा जाए
खुल के सच को अगर कहा जाए
Dr fauzia Naseem shad
चुप कर पगली तुम्हें तो प्यार हुआ है
चुप कर पगली तुम्हें तो प्यार हुआ है
सुशील कुमार सिंह "प्रभात"
💐प्रेम कौतुक-393💐
💐प्रेम कौतुक-393💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अगर फैसला मैं यह कर लूं
अगर फैसला मैं यह कर लूं
gurudeenverma198
चम-चम चमके, गोरी गलिया, मिल खेले, सब सखियाँ
चम-चम चमके, गोरी गलिया, मिल खेले, सब सखियाँ
Er.Navaneet R Shandily
!!महात्मा!!
!!महात्मा!!
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
ख्वाहिशों के समंदर में।
ख्वाहिशों के समंदर में।
Taj Mohammad
आज का आम आदमी
आज का आम आदमी
Shyam Sundar Subramanian
हर तरफ़ आज दंगें लड़ाई हैं बस
हर तरफ़ आज दंगें लड़ाई हैं बस
Abhishek Shrivastava "Shivaji"
अक्ल के दुश्मन
अक्ल के दुश्मन
Shekhar Chandra Mitra
"रामनवमी पर्व 2023"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
***संशय***
***संशय***
प्रेमदास वसु सुरेखा
बड़ी ठोकरो के बाद संभले हैं साहिब
बड़ी ठोकरो के बाद संभले हैं साहिब
Jay Dewangan
प्रतीक्षा
प्रतीक्षा
Dr.Priya Soni Khare
👌काहे का डर...?👌
👌काहे का डर...?👌
*Author प्रणय प्रभात*
*रामचरितमानस में अयोध्या कांड के तीन संस्कृत श्लोकों की दोहा
*रामचरितमानस में अयोध्या कांड के तीन संस्कृत श्लोकों की दोहा
Ravi Prakash
नरम दिली बनाम कठोरता
नरम दिली बनाम कठोरता
Karishma Shah
होली (विरह)
होली (विरह)
लक्ष्मी सिंह
Loading...