Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Feb 2024 · 1 min read

I’ve washed my hands of you

I’ve washed my hands of you

I do not have the time, energy or desire to be anyone’s enemy. If you’ve hurt me in any way, just know that I have no intent to hurt you back.

I will not attack your character, tell lies about you or worse – tell the truth. I will simply carry on and allow you to do the same, knowing that God will handle you in His time and in ways that are far greater than I ever could.

55 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
2323.पूर्णिका
2323.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मेरे प्रेम पत्र
मेरे प्रेम पत्र
विजय कुमार नामदेव
मनवा मन की कब सुने, करता इच्छित काम ।
मनवा मन की कब सुने, करता इच्छित काम ।
sushil sarna
क्या हो, अगर कोई साथी न हो?
क्या हो, अगर कोई साथी न हो?
Vansh Agarwal
** समय कीमती **
** समय कीमती **
surenderpal vaidya
*पुरानी पेंशन हक है मेरा(गीत)*
*पुरानी पेंशन हक है मेरा(गीत)*
Dushyant Kumar
वो एक ही मुलाकात और साथ गुजारे कुछ लम्हें।
वो एक ही मुलाकात और साथ गुजारे कुछ लम्हें।
शिव प्रताप लोधी
मौज-मस्ती
मौज-मस्ती
Vandna Thakur
क्रोध
क्रोध
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
बहुतेरा है
बहुतेरा है
Dr. Meenakshi Sharma
(19)
(19)
Dr fauzia Naseem shad
लेखनी को श्रृंगार शालीनता ,मधुर्यता और शिष्टाचार से संवारा ज
लेखनी को श्रृंगार शालीनता ,मधुर्यता और शिष्टाचार से संवारा ज
DrLakshman Jha Parimal
Outsmart Anxiety
Outsmart Anxiety
पूर्वार्थ
सावधानी हटी दुर्घटना घटी
सावधानी हटी दुर्घटना घटी
Sanjay ' शून्य'
💐अज्ञात के प्रति-49💐
💐अज्ञात के प्रति-49💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
गोलियों की चल रही बौछार देखो।
गोलियों की चल रही बौछार देखो।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
कहानी :#सम्मान
कहानी :#सम्मान
Usha Sharma
ज्ञानवान  दुर्जन  लगे, करो  न सङ्ग निवास।
ज्ञानवान दुर्जन लगे, करो न सङ्ग निवास।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
उम्मीदें  लगाना  छोड़  दो...
उम्मीदें लगाना छोड़ दो...
Aarti sirsat
भारत का अतीत
भारत का अतीत
Anup kanheri
स्मृति-बिम्ब उभरे नयन में....
स्मृति-बिम्ब उभरे नयन में....
डॉ.सीमा अग्रवाल
सच्चाई की कीमत
सच्चाई की कीमत
Dr Parveen Thakur
■ उदाहरण देने की ज़रूरत नहीं। सब आपके आसपास हैं। तमाम सुर्खिय
■ उदाहरण देने की ज़रूरत नहीं। सब आपके आसपास हैं। तमाम सुर्खिय
*Author प्रणय प्रभात*
खुदगर्ज दुनियाँ मे
खुदगर्ज दुनियाँ मे
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
मन तो करता है मनमानी
मन तो करता है मनमानी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
शब्द
शब्द
Ajay Mishra
शहीद (कुंडलिया)
शहीद (कुंडलिया)
Ravi Prakash
सुप्रभात
सुप्रभात
डॉक्टर रागिनी
झरना का संघर्ष
झरना का संघर्ष
Buddha Prakash
लहर तो जीवन में होती हैं
लहर तो जीवन में होती हैं
Neeraj Agarwal
Loading...