Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Mar 2023 · 1 min read

It is necessary to explore to learn from experience😍

It is necessary to explore to learn from experience😍
By sakshi

1 Like · 97 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to get all the exciting updates about our writing competitions, latest published books, author interviews and much more, directly on your phone.
You may also like:
आखरी उत्तराधिकारी
आखरी उत्तराधिकारी
Prabhudayal Raniwal
माँ
माँ
Prakash juyal 'मुकेश'
अक्ल के अंधे
अक्ल के अंधे
Shekhar Chandra Mitra
दयालू मदन
दयालू मदन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
You cannot feel me because
You cannot feel me because
Sakshi Tripathi
छोड़ऽ बिहार में शिक्षक बने के सपना।
छोड़ऽ बिहार में शिक्षक बने के सपना।
जय लगन कुमार हैप्पी
जो लम्हें प्यार से जिया जाए,
जो लम्हें प्यार से जिया जाए,
Buddha Prakash
शेर ग़ज़ल
शेर ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
शिवरात्रि
शिवरात्रि
Satish Srijan
दीप तुम प्रज्वलित करते रहो।
दीप तुम प्रज्वलित करते रहो।
Taj Mohammad
बुंदेली दोहा बिषय- नानो (बारीक)
बुंदेली दोहा बिषय- नानो (बारीक)
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
गरीबों की झोपड़ी बेमोल अब भी बिक रही / निर्धनों की झोपड़ी में सुप्त हिंदुस्तान है
गरीबों की झोपड़ी बेमोल अब भी बिक रही / निर्धनों की झोपड़ी में सुप्त हिंदुस्तान है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
क्या करूँगा उड़ कर
क्या करूँगा उड़ कर
सूर्यकांत द्विवेदी
“ कॉल ड्यूटी ”
“ कॉल ड्यूटी ”
DrLakshman Jha Parimal
आओ मिलकर हंसी खुशी संग जीवन शुरुआत करे
आओ मिलकर हंसी खुशी संग जीवन शुरुआत करे
कृष्णकांत गुर्जर
शेर
शेर
Rajiv Vishal (Rohtasi)
चंद्रयान 3
चंद्रयान 3
Dr Archana Gupta
■ बोलते सितारे....
■ बोलते सितारे....
*Author प्रणय प्रभात*
*मरने का हर मन में डर है (हिंदी गजल)*
*मरने का हर मन में डर है (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
हमारी मूर्खता ही हमे ज्ञान की ओर अग्रसर करती है।
हमारी मूर्खता ही हमे ज्ञान की ओर अग्रसर करती है।
शक्ति राव मणि
भारतीय युवा
भारतीय युवा
AMRESH KUMAR VERMA
जिंदगी हो इंद्रधनुष सी
जिंदगी हो इंद्रधनुष सी
gurudeenverma198
मौसम बेईमान है – प्रेम रस
मौसम बेईमान है – प्रेम रस
Amit Pathak
अधूरी सी प्रेम कहानी
अधूरी सी प्रेम कहानी
Seema 'Tu hai na'
गंतव्यों पर पहुँच कर भी, यात्रा उसकी नहीं थमती है।
गंतव्यों पर पहुँच कर भी, यात्रा उसकी नहीं थमती है।
Manisha Manjari
कहां चला अरे उड़ कर पंछी
कहां चला अरे उड़ कर पंछी
VINOD KUMAR CHAUHAN
ख्वाब हो गए हैं वो दिन
ख्वाब हो गए हैं वो दिन
shabina. Naaz
दर्द अपना है तो तकलीफ़ भी अपनी होगी
दर्द अपना है तो तकलीफ़ भी अपनी होगी
Dr fauzia Naseem shad
मैं अवला नही (#हिन्दी_कविता)
मैं अवला नही (#हिन्दी_कविता)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
बचपन
बचपन
लक्ष्मी सिंह
Loading...