Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Feb 2023 · 1 min read

In wadiyo me yuhi milte rahenge ,

In wadiyo me yuhi milte rahenge ,
Dil me wafao ke diye jalte rahenge.
Yahi maga h duwao me ki mere ishk me kami na ho,
Rahe teri nigaho me , kbhi baijjat baree na ho . 😍 by sakshi

68 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
हर बार ही ख्याल तेरा।
हर बार ही ख्याल तेरा।
Taj Mohammad
जिंदगी के वास्ते
जिंदगी के वास्ते
Surinder blackpen
💐प्रेम कौतुक-524💐
💐प्रेम कौतुक-524💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
झूमका
झूमका
Shekhar Chandra Mitra
यही दोस्ती है❤️
यही दोस्ती है❤️
Skanda Joshi
बुराइयां हैं बहुत आदमी के साथ
बुराइयां हैं बहुत आदमी के साथ
Shivkumar Bilagrami
पिता !
पिता !
Kuldeep mishra (KD)
Har subha uthti hai ummid ki kiran
Har subha uthti hai ummid ki kiran
कवि दीपक बवेजा
मेरे जग्गू दादा
मेरे जग्गू दादा
Baishali Dutta
कलाम को सलाम
कलाम को सलाम
Satish Srijan
कभी किसी को इतनी अहमियत ना दो।
कभी किसी को इतनी अहमियत ना दो।
Annu Gurjar
आप अपना कुछ कहते रहें ,  आप अपना कुछ लिखते रहें!  कोई पढ़ें य
आप अपना कुछ कहते रहें , आप अपना कुछ लिखते रहें! कोई पढ़ें य
DrLakshman Jha Parimal
[पुनर्जन्म एक ध्रुव सत्य] अध्याय 6
[पुनर्जन्म एक ध्रुव सत्य] अध्याय 6
Pravesh Shinde
नारी से संबंधित दोहे
नारी से संबंधित दोहे
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
फूलों की ख़ुशबू ही,
फूलों की ख़ुशबू ही,
Vishal babu (vishu)
सच सच बोलो
सच सच बोलो
सूर्यकांत द्विवेदी
उनकी महफ़िल में मेरी हालात-ए-जिक्र होने लगी
उनकी महफ़िल में मेरी हालात-ए-जिक्र होने लगी
'अशांत' शेखर
"शायद."
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
सीमवा पे डटल हवे, हमरे भैय्या फ़ौजी
सीमवा पे डटल हवे, हमरे भैय्या फ़ौजी
Er.Navaneet R Shandily
पीड़ा की मूकता को
पीड़ा की मूकता को
Dr fauzia Naseem shad
मुझे मिले हैं जो रहमत उसी की वो जाने।
मुझे मिले हैं जो रहमत उसी की वो जाने।
सत्य कुमार प्रेमी
#लघुकथा
#लघुकथा
*Author प्रणय प्रभात*
गज़ब की शीत लहरी है सहन अब की नहीं जाती
गज़ब की शीत लहरी है सहन अब की नहीं जाती
Dr Archana Gupta
The Hard Problem of Law
The Hard Problem of Law
AJAY AMITABH SUMAN
मेरा यार आसमां के चांद की तरह है,
मेरा यार आसमां के चांद की तरह है,
Dushyant kumar Patel
मुझे आशीष दो, माँ
मुझे आशीष दो, माँ
gpoddarmkg
आसान नहीं होता
आसान नहीं होता
Rohit Kaushik
हे प्रभु मेरी विनती सुन लो , प्रभु दर्शन की आस जगा दो
हे प्रभु मेरी विनती सुन लो , प्रभु दर्शन की आस जगा दो
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
*घुटन-सी लग रही है अब, हवा ताजी बहाऍंगे (हिंदी गजल/ गीतिका)*
*घुटन-सी लग रही है अब, हवा ताजी बहाऍंगे (हिंदी गजल/ गीतिका)*
Ravi Prakash
दिल की जमीं से पलकों तक, गम ना यूँ ही आया होगा।
दिल की जमीं से पलकों तक, गम ना यूँ ही आया होगा।
डॉ.सीमा अग्रवाल
Loading...