Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Nov 2023 · 1 min read

Go to bed smarter than when you woke up — Charlie Munger

Go to bed smarter than when you woke up — Charlie Munger

The visual emphasises the value of continuous learning and personal growth. It encourages us to see each day as an opportunity for growth and improvement. By actively seeking knowledge and actively engaging with new ideas, we can expand our understanding and expertise.

Going to bed smarter signifies the importance of filling our days with purposeful learning, whether through reading, having meaningful conversations, exploring new subjects, or engaging in any activity that broadens our knowledge and perspectives.

Learning is a lifelong journey, and by consistently seeking knowledge and expanding our understanding, we can strive towards personal development and a deeper understanding of the world around us.

1 Like · 183 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"अनुत्तरित"
Dr. Kishan tandon kranti
#दोहा-
#दोहा-
*प्रणय प्रभात*
Hey....!!
Hey....!!
पूर्वार्थ
शिवोहं
शिवोहं
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
हमेशा समय रहते दूसरों की गलतियों से सीख लेना
हमेशा समय रहते दूसरों की गलतियों से सीख लेना
Sonam Puneet Dubey
भले ही शरीर में खून न हो पर जुनून जरूर होना चाहिए।
भले ही शरीर में खून न हो पर जुनून जरूर होना चाहिए।
Rj Anand Prajapati
उसे भूला देना इतना आसान नहीं है
उसे भूला देना इतना आसान नहीं है
Keshav kishor Kumar
देखी है हमने हस्तियां कई
देखी है हमने हस्तियां कई
KAJAL NAGAR
बहुत से लोग आएंगे तेरी महफ़िल में पर
बहुत से लोग आएंगे तेरी महफ़िल में पर "कश्यप"।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
' पंकज उधास '
' पंकज उधास '
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
నా గ్రామం
నా గ్రామం
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
आप आज शासक हैं
आप आज शासक हैं
DrLakshman Jha Parimal
.....*खुदसे जंग लढने लगा हूं*......
.....*खुदसे जंग लढने लगा हूं*......
Naushaba Suriya
तुम से सिर्फ इतनी- सी इंतजा है कि -
तुम से सिर्फ इतनी- सी इंतजा है कि -
लक्ष्मी सिंह
!!
!! "सुविचार" !!
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
*माहेश्वर तिवारी जी: शत-शत नमन (कुंडलिया)*
*माहेश्वर तिवारी जी: शत-शत नमन (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
हर बार बीमारी ही वजह नही होती
हर बार बीमारी ही वजह नही होती
ruby kumari
पता नहीं कब लौटे कोई,
पता नहीं कब लौटे कोई,
महेश चन्द्र त्रिपाठी
दोस्ती तेरी मेरी
दोस्ती तेरी मेरी
Surya Barman
मन भर बोझ हो मन पर
मन भर बोझ हो मन पर
Atul "Krishn"
रिश्तों से अब स्वार्थ की गंध आने लगी है
रिश्तों से अब स्वार्थ की गंध आने लगी है
Bhupendra Rawat
संतोष करना ही आत्मा
संतोष करना ही आत्मा
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
इंतज़ार मिल जाए
इंतज़ार मिल जाए
Dr fauzia Naseem shad
दहेज की जरूरत नही
दहेज की जरूरत नही
भरत कुमार सोलंकी
विषय तरंग
विषय तरंग
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*माॅं की चाहत*
*माॅं की चाहत*
Harminder Kaur
तेवरी का सौन्दर्य-बोध +रमेशराज
तेवरी का सौन्दर्य-बोध +रमेशराज
कवि रमेशराज
Hum tumhari giraft se khud ko azad kaise kar le,
Hum tumhari giraft se khud ko azad kaise kar le,
Sakshi Tripathi
** सावन चला आया **
** सावन चला आया **
surenderpal vaidya
Believe,
Believe,
Dhriti Mishra
Loading...