Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Feb 2024 · 1 min read

Exam Stress

Exam Stress

Language: Hindi
94 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Tushar Jagawat
View all
You may also like:
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
हरसिंगार
हरसिंगार
Shweta Soni
तुम्हारी वजह से
तुम्हारी वजह से
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
बहू-बेटी
बहू-बेटी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
विदाई गीत
विदाई गीत
Dr Archana Gupta
बच्चे ही मां बाप की दुनियां होते हैं।
बच्चे ही मां बाप की दुनियां होते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
बिना पंख फैलाये पंछी को दाना नहीं मिलता
बिना पंख फैलाये पंछी को दाना नहीं मिलता
Anil Mishra Prahari
कहीं वैराग का नशा है, तो कहीं मन को मिलती सजा है,
कहीं वैराग का नशा है, तो कहीं मन को मिलती सजा है,
Manisha Manjari
हँसकर गुजारी
हँसकर गुजारी
Bodhisatva kastooriya
वक्त की कहानी भारतीय साहित्य में एक अमर कहानी है। यह कहानी प
वक्त की कहानी भारतीय साहित्य में एक अमर कहानी है। यह कहानी प
कार्तिक नितिन शर्मा
वक्त
वक्त
Shyam Sundar Subramanian
2399.पूर्णिका
2399.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
■ आज का शेर...।
■ आज का शेर...।
*Author प्रणय प्रभात*
सुख दुःख
सुख दुःख
विजय कुमार अग्रवाल
पापा
पापा
Kanchan Khanna
धरती ने जलवाष्पों को आसमान तक संदेश भिजवाया
धरती ने जलवाष्पों को आसमान तक संदेश भिजवाया
ruby kumari
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
"याद है मुझे"
Dr. Kishan tandon kranti
स्वामी विवेकानंद
स्वामी विवेकानंद
मनोज कर्ण
वक़्त का समय
वक़्त का समय
भरत कुमार सोलंकी
जहाँ खुदा है
जहाँ खुदा है
शेखर सिंह
* रेल हादसा *
* रेल हादसा *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कुछ रिश्ते भी रविवार की तरह होते हैं।
कुछ रिश्ते भी रविवार की तरह होते हैं।
Manoj Mahato
सुविचार
सुविचार
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
जब कोई साथी साथ नहीं हो
जब कोई साथी साथ नहीं हो
gurudeenverma198
युग प्रवर्तक नारी!
युग प्रवर्तक नारी!
कविता झा ‘गीत’
माता सति की विवशता
माता सति की विवशता
SHAILESH MOHAN
संघर्षी वृक्ष
संघर्षी वृक्ष
Vikram soni
ये रंगो सा घुल मिल जाना,वो खुशियों भरा इजहार कर जाना ,फिजाओं
ये रंगो सा घुल मिल जाना,वो खुशियों भरा इजहार कर जाना ,फिजाओं
Shashi kala vyas
*रामचरितमानस में गूढ़ अध्यात्म-तत्व*
*रामचरितमानस में गूढ़ अध्यात्म-तत्व*
Ravi Prakash
Loading...