Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Jul 2023 · 1 min read

Dr . Arun Kumar Shastri – ek abodh balak

Dr . Arun Kumar Shastri – ek abodh balak
चाहे कितने भी भारी-भरकम शब्दों से सजाकर सुविचारों का आदान-प्रदान कर दिया जाए, यदि आंखों में स्नेह, होठों पर मुस्कान, ह्रदय में सरलता और व्यवहार में करुणा एवम अपनापन नहीं है, तो सब कुछ व्यर्थ है।।
केवल खुद को ही सही व सबसे अच्छा समझ लेना, ऐसी बीमारी है जो इंसान को किसी काबिल नहीं छोडती और उसे अकेलेपन के दलदल में धकेल देती है।

💐💥🙏🏻सुप्रभात🙏🏻💥💐

291 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from DR ARUN KUMAR SHASTRI
View all
You may also like:
जो लिखा नहीं.....लिखने की कोशिश में हूँ...
जो लिखा नहीं.....लिखने की कोशिश में हूँ...
Vishal babu (vishu)
चंद्रयान 3 ‘आओ मिलकर जश्न मनाएं’
चंद्रयान 3 ‘आओ मिलकर जश्न मनाएं’
Author Dr. Neeru Mohan
वह (कुछ भाव-स्वभाव चित्र)
वह (कुछ भाव-स्वभाव चित्र)
Dr MusafiR BaithA
लिखना चाहूँ  अपनी बातें ,  कोई नहीं इसको पढ़ता है ! बातें कह
लिखना चाहूँ अपनी बातें , कोई नहीं इसको पढ़ता है ! बातें कह
DrLakshman Jha Parimal
"संसद और सेंगोल"
*Author प्रणय प्रभात*
ताजा समाचार है?
ताजा समाचार है?
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Tu Mainu pyaar de
Tu Mainu pyaar de
Swami Ganganiya
*नमन सकल जग के स्वामी【हिंदी गजल/गीतिका】*
*नमन सकल जग के स्वामी【हिंदी गजल/गीतिका】*
Ravi Prakash
जो मुस्किल में छोड़ जाए वो यार कैसा
जो मुस्किल में छोड़ जाए वो यार कैसा
Kumar lalit
सीख
सीख
Sanjay ' शून्य'
राम का आधुनिक वनवास
राम का आधुनिक वनवास
Harinarayan Tanha
कहो जय भीम
कहो जय भीम
Jayvind Singh Ngariya Ji Datia MP 475661
2894.*पूर्णिका*
2894.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
आत्मा की शांति
आत्मा की शांति
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
शब्द कम पड़ जाते हैं,
शब्द कम पड़ जाते हैं,
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
रोला छंद
रोला छंद
sushil sarna
मेरे राम
मेरे राम
Prakash Chandra
জীবনের অর্থ এক এক জনের কাছে এক এক রকম। জীবনের অর্থ হল আপনার
জীবনের অর্থ এক এক জনের কাছে এক এক রকম। জীবনের অর্থ হল আপনার
Sakhawat Jisan
इज़हार ए मोहब्बत
इज़हार ए मोहब्बत
Surinder blackpen
हम कितने नोट/ करेंसी छाप सकते है
हम कितने नोट/ करेंसी छाप सकते है
शेखर सिंह
मैं साहिल पर पड़ा रहा
मैं साहिल पर पड़ा रहा
Sahil Ahmad
मर्दों वाला काम
मर्दों वाला काम
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ये राज़ किस से कहू ,ये बात कैसे बताऊं
ये राज़ किस से कहू ,ये बात कैसे बताऊं
Sonu sugandh
Perhaps the most important moment in life is to understand y
Perhaps the most important moment in life is to understand y
पूर्वार्थ
"अक्सर"
Dr. Kishan tandon kranti
हर इंसान लगाता दांव
हर इंसान लगाता दांव
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
घाट किनारे है गीत पुकारे, आजा रे ऐ मीत हमारे…
घाट किनारे है गीत पुकारे, आजा रे ऐ मीत हमारे…
Anand Kumar
एक साँझ
एक साँझ
Dr.Pratibha Prakash
🚩मिलन-सुख की गजल-जैसा तुम्हें फैसन ने ढाला है
🚩मिलन-सुख की गजल-जैसा तुम्हें फैसन ने ढाला है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Pata to sabhi batate h , rasto ka,
Pata to sabhi batate h , rasto ka,
Sakshi Tripathi
Loading...