Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Jul 2023 · 1 min read

dr arun kumar shastri

dr arun kumar shastri
पत्थरों में एक सबसे बड़ी सिफ्त ये है कि वो पिघलता नहीं है ।
और कमी ये है की वो कभी किसी के लिए बदलता भी नहीं हैं

293 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from DR ARUN KUMAR SHASTRI
View all
You may also like:
एक जिद मन में पाल रखी है,कि अपना नाम बनाना है
एक जिद मन में पाल रखी है,कि अपना नाम बनाना है
पूर्वार्थ
देखना हमको फिर नहीं भाता
देखना हमको फिर नहीं भाता
Dr fauzia Naseem shad
संभावना
संभावना
Ajay Mishra
कभी-कभी ऐसा लगता है
कभी-कभी ऐसा लगता है
Suryakant Dwivedi
कब जुड़ता है टूट कर,
कब जुड़ता है टूट कर,
sushil sarna
!........!
!........!
शेखर सिंह
खोया है हरेक इंसान
खोया है हरेक इंसान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
बसंत हो
बसंत हो
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
मरा नहीं हूं इसीलिए अभी भी जिंदा हूं ,
मरा नहीं हूं इसीलिए अभी भी जिंदा हूं ,
Manju sagar
रमेशराज की चिड़िया विषयक मुक्तछंद कविताएँ
रमेशराज की चिड़िया विषयक मुक्तछंद कविताएँ
कवि रमेशराज
छूटा उसका हाथ
छूटा उसका हाथ
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
नहीं-नहीं प्रिये
नहीं-नहीं प्रिये
Pratibha Pandey
"उल्फत"
Dr. Kishan tandon kranti
दिन भी बहके से हुए रातें आवारा हो गईं।
दिन भी बहके से हुए रातें आवारा हो गईं।
सत्य कुमार प्रेमी
23/65.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/65.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*मैंने तो मधु-विश्वासों की, कथा निरंतर बॉंची है (गीत)*
*मैंने तो मधु-विश्वासों की, कथा निरंतर बॉंची है (गीत)*
Ravi Prakash
अधूरी कहानी (कविता)
अधूरी कहानी (कविता)
Monika Yadav (Rachina)
जिंदगी का यह दौर भी निराला है
जिंदगी का यह दौर भी निराला है
Ansh
सच तो कुछ नहीं है
सच तो कुछ नहीं है
Neeraj Agarwal
एक चतुर नार
एक चतुर नार
लक्ष्मी सिंह
*खत आखरी उसका जलाना पड़ा मुझे*
*खत आखरी उसका जलाना पड़ा मुझे*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
The World on a Crossroad: Analysing the Pros and Cons of a Potential Superpower Conflict
The World on a Crossroad: Analysing the Pros and Cons of a Potential Superpower Conflict
Shyam Sundar Subramanian
चेहरा सब कुछ बयां नहीं कर पाता है,
चेहरा सब कुछ बयां नहीं कर पाता है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
नया सवेरा
नया सवेरा
AMRESH KUMAR VERMA
यादों की सफ़र
यादों की सफ़र"
Dipak Kumar "Girja"
J
J
Jay Dewangan
भीमराव अम्बेडकर
भीमराव अम्बेडकर
Mamta Rani
नारी
नारी
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
ले हौसले बुलंद कर्म को पूरा कर,
ले हौसले बुलंद कर्म को पूरा कर,
Anamika Tiwari 'annpurna '
#शेर
#शेर
*प्रणय प्रभात*
Loading...