Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Mar 2023 · 1 min read

Collect your efforts to through yourself on the sky .

Collect your efforts to through yourself on the sky .
Collect your charm to brightup in the sky .
Collect your discipline to maintain surroundings according to yourself
Collect your courage to frightened away from anymore .

66 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तुम तो हो गई मुझसे दूर
तुम तो हो गई मुझसे दूर
Shakil Alam
किरदार
किरदार
Surinder blackpen
ये दिल है जो तुम्हारा
ये दिल है जो तुम्हारा
Ram Krishan Rastogi
प्यार भरी चांदनी रात
प्यार भरी चांदनी रात
नूरफातिमा खातून नूरी
याद तुम्हारी......।
याद तुम्हारी......।
Awadhesh Kumar Singh
हार स्वीकार कर
हार स्वीकार कर
रोहताश वर्मा मुसाफिर
बजट
बजट
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Kabhi kabhi hum
Kabhi kabhi hum
Sakshi Tripathi
ज़िन्दगी इतना तो
ज़िन्दगी इतना तो
Dr fauzia Naseem shad
लडकियाँ
लडकियाँ
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
गांव के छोरे
गांव के छोरे
जय लगन कुमार हैप्पी
लोरी (Lullaby)
लोरी (Lullaby)
Shekhar Chandra Mitra
बुलंदियों पर पहुंचाएगा इकदिन मेरा हुनर मुझे,
बुलंदियों पर पहुंचाएगा इकदिन मेरा हुनर मुझे,
प्रदीप कुमार गुप्ता
जीवन साथी ओ मेरे यार
जीवन साथी ओ मेरे यार
gurudeenverma198
वृक्षों का रोपण करें, रहे धरा संपन्न।
वृक्षों का रोपण करें, रहे धरा संपन्न।
डॉ.सीमा अग्रवाल
एक
एक "स्वाभिमानी" को
*Author प्रणय प्रभात*
दुआ
दुआ
डॉ प्रवीण ठाकुर
ऐ जिंदगी तू कब तक?
ऐ जिंदगी तू कब तक?
Taj Mohammad
सिद्धार्थ से वह 'बुद्ध' बने...
सिद्धार्थ से वह 'बुद्ध' बने...
Buddha Prakash
आस पड़ोस का सब जानता है..
आस पड़ोस का सब जानता है..
कवि दीपक बवेजा
गांधी से परिचर्चा
गांधी से परिचर्चा
नन्दलाल सिंह 'कांतिपति'
"गुब्बारा"
Dr. Kishan tandon kranti
चाहे जितना तू कर निहां मुझको
चाहे जितना तू कर निहां मुझको
Anis Shah
*सर्दी में बरसात (कुंडलिया)*
*सर्दी में बरसात (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मां
मां
goutam shaw
" फ़साने हमारे "
Aarti sirsat
अनेकों ज़ख्म ऐसे हैं कुछ अपने भी पराये भी ।
अनेकों ज़ख्म ऐसे हैं कुछ अपने भी पराये भी ।
DR ARUN KUMAR SHASTRI
💐प्रेम कौतुक-368💐
💐प्रेम कौतुक-368💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सर्वश्रेष्ठ गीत - जीवन के उस पार मिलेंगे
सर्वश्रेष्ठ गीत - जीवन के उस पार मिलेंगे
Shivkumar Bilagrami
उसकी अदा
उसकी अदा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Loading...