Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Mar 2024 · 1 min read

3216.*पूर्णिका*

3216.*पूर्णिका*
🌷 तेरा साथ कभी छूटे ना🌷
22 22 22 22
तेरा साथ कभी छूटे ना।
सजन विश्वास कभी टूटे ना।।
तेरा मेरा बंधन प्यारा।
बंधे बांध कभी फूटे ना।।
ये दुनिया में शोहरत मिले।
नाहक नाक कभी लूटे ना।।
महके जीवन हरदम अपना।
चलती सांस कभी घूटे ना।।
बिगड़े सब काम बने खेदू।
बस हालात कभी कूटे ना।।
……..✍ डॉ. खेदू भारती “सत्येश”
31-03-2024रविवार

49 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हमें अब राम के पदचिन्ह पर चलकर दिखाना है
हमें अब राम के पदचिन्ह पर चलकर दिखाना है
Dr Archana Gupta
ढल गया सूरज बिना प्रस्तावना।
ढल गया सूरज बिना प्रस्तावना।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
संवाद होना चाहिए
संवाद होना चाहिए
संजय कुमार संजू
बसंत का आगम क्या कहिए...
बसंत का आगम क्या कहिए...
डॉ.सीमा अग्रवाल
*बूढ़ा दरख्त गाँव का *
*बूढ़ा दरख्त गाँव का *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*आवारा कुत्तों की समस्या: नगर पालिका रामपुर द्वारा आवेदन का
*आवारा कुत्तों की समस्या: नगर पालिका रामपुर द्वारा आवेदन का
Ravi Prakash
ब्रह्म मुहूर्त में बिस्तर त्याग सब सुख समृद्धि का आधार
ब्रह्म मुहूर्त में बिस्तर त्याग सब सुख समृद्धि का आधार
पूर्वार्थ
बेटियां!दोपहर की झपकी सी
बेटियां!दोपहर की झपकी सी
Manu Vashistha
कली को खिलने दो
कली को खिलने दो
Ghanshyam Poddar
राखी (कुण्डलिया)
राखी (कुण्डलिया)
नाथ सोनांचली
शायद ...
शायद ...
हिमांशु Kulshrestha
* धन्य अयोध्याधाम है *
* धन्य अयोध्याधाम है *
surenderpal vaidya
हरा नहीं रहता
हरा नहीं रहता
Dr fauzia Naseem shad
हाइकु (#हिन्दी)
हाइकु (#हिन्दी)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
रहे हरदम यही मंजर
रहे हरदम यही मंजर
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
एक ही नारा एक ही काम,
एक ही नारा एक ही काम,
शेखर सिंह
प्रकृति और मानव
प्रकृति और मानव
Kumud Srivastava
पसन्द नहीं था खुदा को भी, यह रिश्ता तुम्हारा
पसन्द नहीं था खुदा को भी, यह रिश्ता तुम्हारा
gurudeenverma198
आज का दौर
आज का दौर
Shyam Sundar Subramanian
यूं ही हमारी दोस्ती का सिलसिला रहे।
यूं ही हमारी दोस्ती का सिलसिला रहे।
सत्य कुमार प्रेमी
अपने साथ तो सब अपना है
अपने साथ तो सब अपना है
Dheerja Sharma
"मुलाजिम"
Dr. Kishan tandon kranti
मेघा तू सावन में आना🌸🌿🌷🏞️
मेघा तू सावन में आना🌸🌿🌷🏞️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
घुली अजब सी भांग
घुली अजब सी भांग
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
प्यार गर सच्चा हो तो,
प्यार गर सच्चा हो तो,
Sunil Maheshwari
कहते हैं कि मृत्यु चुपचाप आती है। बेख़बर। वह चुपके से आती है
कहते हैं कि मृत्यु चुपचाप आती है। बेख़बर। वह चुपके से आती है
Dr Tabassum Jahan
जीवन
जीवन
Neeraj Agarwal
हर विषम से विषम परिस्थिति में भी शांत रहना सबसे अच्छा हथियार
हर विषम से विषम परिस्थिति में भी शांत रहना सबसे अच्छा हथियार
Ankita Patel
वो ज़माने चले गए
वो ज़माने चले गए
Artist Sudhir Singh (सुधीरा)
#शेर
#शेर
*प्रणय प्रभात*
Loading...