Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Mar 2024 · 1 min read

3156.*पूर्णिका*

3156.*पूर्णिका*
🌷 यूं जान देती है कविता🌷
2212 22 22
यूं जान देती है कविता।
पहचान देती है कविता।।
दुनिया यहाँ बदले हरदम।
बलिदान देती है कविता।।
बरसात खुशियों की बरसे।
अरमान देती है कविता।।
महके खिले गुलशन प्यारा ।
गुलदान देती है कविता ।
साकार सपनें कर खेदू ।
ईशान देती है कविता।।
………✍ डॉ .खेदू भारती”सत्येश”
21-03-2024गुरुवार

46 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*कालरात्रि महाकाली
*कालरात्रि महाकाली"*
Shashi kala vyas
2626.पूर्णिका
2626.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
बढ़ने वाला हर पत्ता आपको बताएगा
बढ़ने वाला हर पत्ता आपको बताएगा
शेखर सिंह
अंगदान
अंगदान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*** कृष्ण रंग ही : प्रेम रंग....!!! ***
*** कृष्ण रंग ही : प्रेम रंग....!!! ***
VEDANTA PATEL
Stay grounded
Stay grounded
Bidyadhar Mantry
दोस्ती एक पवित्र बंधन
दोस्ती एक पवित्र बंधन
AMRESH KUMAR VERMA
Pata to sabhi batate h , rasto ka,
Pata to sabhi batate h , rasto ka,
Sakshi Tripathi
घर एक मंदिर🌷🙏
घर एक मंदिर🌷🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
हरे भरे खेत
हरे भरे खेत
जगदीश लववंशी
चलो अब बुद्ध धाम दिखाए ।
चलो अब बुद्ध धाम दिखाए ।
Buddha Prakash
मैंने फत्ते से कहा
मैंने फत्ते से कहा
Satish Srijan
समाज और सोच
समाज और सोच
Adha Deshwal
तर्जनी आक्षेेप कर रही विभा पर
तर्जनी आक्षेेप कर रही विभा पर
Suryakant Dwivedi
मायापुर यात्रा की झलक
मायापुर यात्रा की झलक
Pooja Singh
इल्म हुआ जब इश्क का,
इल्म हुआ जब इश्क का,
sushil sarna
मस्ती का त्योहार है होली
मस्ती का त्योहार है होली
कवि रमेशराज
इश्क बाल औ कंघी
इश्क बाल औ कंघी
Sandeep Pande
■ हाइकू पर हाइकू।।
■ हाइकू पर हाइकू।।
*Author प्रणय प्रभात*
अभिमान  करे काया का , काया काँच समान।
अभिमान करे काया का , काया काँच समान।
Anil chobisa
*चलो आओ करें बच्चों से, कुछ मुस्कान की बातें (हिंदी गजल)*
*चलो आओ करें बच्चों से, कुछ मुस्कान की बातें (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
लतिका
लतिका
DR ARUN KUMAR SHASTRI
पढ़ना सीखो, बेटी
पढ़ना सीखो, बेटी
Shekhar Chandra Mitra
दिलों में प्यार भी होता, तेरा मेरा नहीं होता।
दिलों में प्यार भी होता, तेरा मेरा नहीं होता।
सत्य कुमार प्रेमी
"दोस्ती"
Dr. Kishan tandon kranti
देने के लिए मेरे पास बहुत कुछ था ,
देने के लिए मेरे पास बहुत कुछ था ,
Rohit yadav
तुम जिसे झूठ मेरा कहते हो
तुम जिसे झूठ मेरा कहते हो
Shweta Soni
बेटियां! दोपहर की झपकी सी
बेटियां! दोपहर की झपकी सी
Manu Vashistha
कौन किसके बिन अधूरा है
कौन किसके बिन अधूरा है
Ram Krishan Rastogi
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Loading...