Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Nov 2023 · 1 min read

2732. 🌷पूर्णिका🌷

2732. 🌷पूर्णिका🌷
गीत है जिंदगी
212 212
गीत है जिंदगी ।
मीत है जिंदगी ।।
पास है मंजिलें ।
जीत है जिंदगी ।।
प्यार दुनिया जहाँ ।
प्रीत है जिंदगी।।
संघर्ष तू कर यहीं ।
*रीत है जिंदगी।।
देख खेदू यहाँ ।
नीत है जिंदगी।।
……..✍ डॉ .खेदू भारती”सत्येश”
17-11-2023शुक्रवार

164 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कवियों का अपना गम...
कवियों का अपना गम...
goutam shaw
दिल
दिल
Dr Archana Gupta
तेरे भीतर ही छिपा,
तेरे भीतर ही छिपा,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बाट का बटोही ?
बाट का बटोही ?
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
ये आँखे हट नही रही तेरे दीदार से, पता नही
ये आँखे हट नही रही तेरे दीदार से, पता नही
Tarun Garg
चिंगारी के गर्भ में,
चिंगारी के गर्भ में,
sushil sarna
डर का घर / MUSAFIR BAITHA
डर का घर / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
प्यार करोगे तो तकलीफ मिलेगी
प्यार करोगे तो तकलीफ मिलेगी
Harminder Kaur
विचार, संस्कार और रस-4
विचार, संस्कार और रस-4
कवि रमेशराज
■ यक़ीन मानिए...
■ यक़ीन मानिए...
*Author प्रणय प्रभात*
जिस प्रकार इस धरती में गुरुत्वाकर्षण समाहित है वैसे ही इंसान
जिस प्रकार इस धरती में गुरुत्वाकर्षण समाहित है वैसे ही इंसान
Rj Anand Prajapati
ग़ज़ल सगीर
ग़ज़ल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
जुगाड़
जुगाड़
Dr. Pradeep Kumar Sharma
फूल और भी तो बहुत है, महकाने को जिंदगी
फूल और भी तो बहुत है, महकाने को जिंदगी
gurudeenverma198
मानसिक विकलांगता
मानसिक विकलांगता
Dr fauzia Naseem shad
"दुखती रग.." हास्य रचना
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
नेमत, इबादत, मोहब्बत बेशुमार दे चुके हैं
नेमत, इबादत, मोहब्बत बेशुमार दे चुके हैं
हरवंश हृदय
ज़िन्दगी में अच्छे लोगों की तलाश मत करो,
ज़िन्दगी में अच्छे लोगों की तलाश मत करो,
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
"जिसका जैसा नजरिया"
Dr. Kishan tandon kranti
भारत वर्ष (शक्ति छन्द)
भारत वर्ष (शक्ति छन्द)
नाथ सोनांचली
श्रेष्ठ बंधन
श्रेष्ठ बंधन
Dr. Mulla Adam Ali
*गीता सुनाई कृष्ण ने, मधु बॉंसुरी गाते रहे(मुक्तक)*
*गीता सुनाई कृष्ण ने, मधु बॉंसुरी गाते रहे(मुक्तक)*
Ravi Prakash
जन जन में खींचतान
जन जन में खींचतान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
फ़ब्तियां
फ़ब्तियां
Shivkumar Bilagrami
Bad in good
Bad in good
Bidyadhar Mantry
नया से भी नया
नया से भी नया
Ramswaroop Dinkar
बच्चे ही मां बाप की दुनियां होते हैं।
बच्चे ही मां बाप की दुनियां होते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
6-जो सच का पैरोकार नहीं
6-जो सच का पैरोकार नहीं
Ajay Kumar Vimal
खुद के व्यक्तिगत अस्तित्व को आर्थिक सामाजिक तौर पर मजबूत बना
खुद के व्यक्तिगत अस्तित्व को आर्थिक सामाजिक तौर पर मजबूत बना
पूर्वार्थ
अकेला गया था मैं
अकेला गया था मैं
Surinder blackpen
Loading...