Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Oct 2023 · 1 min read

2650.पूर्णिका

2650.पूर्णिका
🌷 नेक पथ पर तू चल 🌷
212 22 2
नेक पथ पर तू चल ।
रोज उठ कर तू चल ।।
यूं मिलेगी मंजिल ।
मेहनत कर तू चल ।।
ये जहाँ साथ कहाँ ।
बेधड़क ही तू चल ।।
जिंदगी है दुनिया।
चमन सा बन तू चल ।।
नाज करते खेदू।
रात हो दिन तू चल ।।
………✍डॉ .खेदू भारती”सत्येश”
27-10-2023शुक्रवार

130 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
शौक़ इनका भी
शौक़ इनका भी
Dr fauzia Naseem shad
2246.🌹इंसान हूँ इंसानियत की बात करता हूँ 🌹
2246.🌹इंसान हूँ इंसानियत की बात करता हूँ 🌹
Dr.Khedu Bharti
महफिल में तनहा जले,
महफिल में तनहा जले,
sushil sarna
*सार जीवन का सदा, संघर्ष रहना चाहिए (मुक्तक)*
*सार जीवन का सदा, संघर्ष रहना चाहिए (मुक्तक)*
Ravi Prakash
चांद कहां रहते हो तुम
चांद कहां रहते हो तुम
Surinder blackpen
वन उपवन हरित खेत क्यारी में
वन उपवन हरित खेत क्यारी में
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
क़ीमती लिबास(Dress) पहन कर शख़्सियत(Personality) अच्छी बनाने स
क़ीमती लिबास(Dress) पहन कर शख़्सियत(Personality) अच्छी बनाने स
Trishika S Dhara
मोहब्बत के शरबत के रंग को देख कर
मोहब्बत के शरबत के रंग को देख कर
Shakil Alam
बनें जुगनू अँधेरों में सफ़र आसान हो जाए
बनें जुगनू अँधेरों में सफ़र आसान हो जाए
आर.एस. 'प्रीतम'
हुआ क्या तोड़ आयी प्रीत को जो  एक  है  नारी
हुआ क्या तोड़ आयी प्रीत को जो एक है नारी
Anil Mishra Prahari
सद्विचार
सद्विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
■ आज का संकल्प...
■ आज का संकल्प...
*Author प्रणय प्रभात*
तेवरी
तेवरी
कवि रमेशराज
" सुन‌ सको तो सुनों "
Aarti sirsat
कमाण्डो
कमाण्डो
Dr. Kishan tandon kranti
*
*"तुलसी मैया"*
Shashi kala vyas
🌷 सावन तभी सुहावन लागे 🌷
🌷 सावन तभी सुहावन लागे 🌷
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
ज़हालत का दौर
ज़हालत का दौर
Shekhar Chandra Mitra
"उड़ान"
Yogendra Chaturwedi
आना भी तय होता है,जाना भी तय होता है
आना भी तय होता है,जाना भी तय होता है
Shweta Soni
💐अज्ञात के प्रति-23💐
💐अज्ञात के प्रति-23💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मेरी जिंदगी
मेरी जिंदगी
ओनिका सेतिया 'अनु '
हर किसी का एक मुकाम होता है,
हर किसी का एक मुकाम होता है,
Buddha Prakash
यही जीवन है
यही जीवन है
Otteri Selvakumar
किस पथ पर उसको जाना था
किस पथ पर उसको जाना था
Mamta Rani
जब मैं तुमसे प्रश्न करूँगा,
जब मैं तुमसे प्रश्न करूँगा,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
हावी दिलो-दिमाग़ पर, आज अनेकों रोग
हावी दिलो-दिमाग़ पर, आज अनेकों रोग
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
..कदम आगे बढ़ाने की कोशिश करता हू...*
..कदम आगे बढ़ाने की कोशिश करता हू...*
Naushaba Suriya
Loading...