Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Oct 2023 · 1 min read

2635.पूर्णिका

2635.पूर्णिका
🌷 लोग कारण बन जाते हैं 🌷
212 22 22 2
लोग कारण बन जाते हैं ।
सच उदाहरण बन जाते हैं ।।
नासमझ भी बनते-बनते ।
यूं निवारण बन जाते हैं ।।
खुदगर्जी का आलम देखो ।
सोच चारण बन जाते हैं ।।
बदल देते फितरत अपनी ।
होश मारण बन जाते हैं ।।
बात दिल की जाने खेदू ।
रोज तारण बन जाते हैं ।।
……….✍डॉ .खेदू भारती”सत्येश”
25-10-2023बुधवार

235 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
21 उम्र ढ़ल गई
21 उम्र ढ़ल गई
Dr Shweta sood
दिल तमन्ना
दिल तमन्ना
Dr fauzia Naseem shad
"पेरियार ललई सिंह यादव"
Dr. Kishan tandon kranti
ख़ामोश निगाहें
ख़ामोश निगाहें
Surinder blackpen
ये मन तुझसे गुजारिश है, मत कर किसी को याद इतना
ये मन तुझसे गुजारिश है, मत कर किसी को याद इतना
$úDhÁ MãÚ₹Yá
खिला हूं आजतक मौसम के थपेड़े सहकर।
खिला हूं आजतक मौसम के थपेड़े सहकर।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
शुरुआत जरूरी है
शुरुआत जरूरी है
Shyam Pandey
आप कुल्हाड़ी को भी देखो, हत्थे को बस मत देखो।
आप कुल्हाड़ी को भी देखो, हत्थे को बस मत देखो।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
सर्दी और चाय का रिश्ता है पुराना,
सर्दी और चाय का रिश्ता है पुराना,
Shutisha Rajput
झुग्गियाँ
झुग्गियाँ
नाथ सोनांचली
मजदूर हैं हम मजबूर नहीं
मजदूर हैं हम मजबूर नहीं
नेताम आर सी
😊न्यूज़ वर्ल्ड😊
😊न्यूज़ वर्ल्ड😊
*Author प्रणय प्रभात*
सरप्लस सुख / MUSAFIR BAITHA
सरप्लस सुख / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
सफलता तीन चीजे मांगती है :
सफलता तीन चीजे मांगती है :
GOVIND UIKEY
प्यार नहीं दे पाऊँगा
प्यार नहीं दे पाऊँगा
Kaushal Kumar Pandey आस
पिताजी का आशीर्वाद है।
पिताजी का आशीर्वाद है।
Kuldeep mishra (KD)
एक समझदार मां रोते हुए बच्चे को चुप करवाने के लिए प्रकृति के
एक समझदार मां रोते हुए बच्चे को चुप करवाने के लिए प्रकृति के
Dheerja Sharma
भाग्य - कर्म
भाग्य - कर्म
Buddha Prakash
‘ विरोधरस ‘---8. || आलम्बन के अनुभाव || +रमेशराज
‘ विरोधरस ‘---8. || आलम्बन के अनुभाव || +रमेशराज
कवि रमेशराज
धर्म और सिध्दांत
धर्म और सिध्दांत
Santosh Shrivastava
योग करते जाओ
योग करते जाओ
Sandeep Pande
3188.*पूर्णिका*
3188.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कर मुसाफिर सफर तू अपने जिंदगी  का,
कर मुसाफिर सफर तू अपने जिंदगी का,
Yogendra Chaturwedi
कुछ तो ऐसे हैं कामगार,
कुछ तो ऐसे हैं कामगार,
Satish Srijan
प्रेम साधना श्रेष्ठ है,
प्रेम साधना श्रेष्ठ है,
Arvind trivedi
*छिपी रहती सरल चेहरों के, पीछे होशियारी है (हिंदी गजल)*
*छिपी रहती सरल चेहरों के, पीछे होशियारी है (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
आप जब तक दुःख के साथ भस्मीभूत नहीं हो जाते,तब तक आपके जीवन क
आप जब तक दुःख के साथ भस्मीभूत नहीं हो जाते,तब तक आपके जीवन क
Shweta Soni
जीभ/जिह्वा
जीभ/जिह्वा
लक्ष्मी सिंह
मन मुकुर
मन मुकुर
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
जी-२० शिखर सम्मेलन
जी-२० शिखर सम्मेलन
surenderpal vaidya
Loading...