Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Oct 2023 · 1 min read

2625.पूर्णिका

2625.पूर्णिका
🌷नाजनखरों का जमाना देखो🌷
2212 2122 22
नाजनखरों का जमाना देखो।
नासमझ है ये जमाना देखो।।
कैसे यहाँ प्यार करती दुनिया।
है बेदिलों का जमाना देखो।।
हम चाहते बहुत जिसको सच में । बेदर्दी बलमा जमाना देखो।।
सोच अपनी है बहुत ही ऊँची।
क्या क्या करेगा जमाना देखो।।
जो भी मिला थाम दामन खेदू।
कहता रहेगा जमाना देखो।।
…..✍डॉ .खेदू भारती”सत्येश”
20-10-2023शुक्रवार

160 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दोहे
दोहे
दुष्यन्त 'बाबा'
हँसाती, रुलाती, आजमाती है जिन्दगी
हँसाती, रुलाती, आजमाती है जिन्दगी
Anil Mishra Prahari
कितने बड़े हैवान हो तुम
कितने बड़े हैवान हो तुम
मानक लाल मनु
मैं फकीर ही सही हूं
मैं फकीर ही सही हूं
Umender kumar
फितरत
फितरत
Dr fauzia Naseem shad
बारिश का मौसम
बारिश का मौसम
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
चंद्रयान तीन अंतरिक्ष पार
चंद्रयान तीन अंतरिक्ष पार
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
अब तो हमको भी आती नहीं, याद तुम्हारी क्यों
अब तो हमको भी आती नहीं, याद तुम्हारी क्यों
gurudeenverma198
गुरु
गुरु
Rashmi Sanjay
इक परी हो तुम बड़ी प्यारी हो
इक परी हो तुम बड़ी प्यारी हो
Piyush Prashant
अध्यापक दिवस
अध्यापक दिवस
SATPAL CHAUHAN
हम कितने चैतन्य
हम कितने चैतन्य
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
23/75.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/75.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
आज कल कुछ इस तरह से चल रहा है,
आज कल कुछ इस तरह से चल रहा है,
kumar Deepak "Mani"
तुम नि:शब्द साग़र से हो ,
तुम नि:शब्द साग़र से हो ,
Stuti tiwari
सावन आया
सावन आया
Neeraj Agarwal
💐प्रेम कौतुक-350💐
💐प्रेम कौतुक-350💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
❤️सिर्फ़ तुझे ही पाया है❤️
❤️सिर्फ़ तुझे ही पाया है❤️
Srishty Bansal
अपने कार्यों में अगर आप बार बार असफल नहीं हो रहे हैं तो इसका
अपने कार्यों में अगर आप बार बार असफल नहीं हो रहे हैं तो इसका
Paras Nath Jha
दोहे नौकरशाही
दोहे नौकरशाही
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जीने का सलीका
जीने का सलीका
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
कदम चुप चाप से आगे बढ़ते जाते है
कदम चुप चाप से आगे बढ़ते जाते है
Dr.Priya Soni Khare
अन्नदाता,तू परेशान क्यों है...?
अन्नदाता,तू परेशान क्यों है...?
मनोज कर्ण
मूर्दन के गांव
मूर्दन के गांव
Shekhar Chandra Mitra
बगिया* का पेड़ और भिखारिन बुढ़िया / MUSAFIR BAITHA
बगिया* का पेड़ और भिखारिन बुढ़िया / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
मैकदे को जाता हूँ,
मैकदे को जाता हूँ,
Satish Srijan
वृक्षारोपण का अर्थ केवल पौधे को रोपित करना ही नहीं बल्कि उसक
वृक्षारोपण का अर्थ केवल पौधे को रोपित करना ही नहीं बल्कि उसक
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
"जय जवान जय किसान" - आर्टिस्ट (कुमार श्रवण)
Shravan singh
“तड़कता -फड़कता AMC CENTRE LUCKNOW का रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम” (संस्मरण 1973)
“तड़कता -फड़कता AMC CENTRE LUCKNOW का रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम” (संस्मरण 1973)
DrLakshman Jha Parimal
सारी दुनिया में सबसे बड़ा सामूहिक स्नान है
सारी दुनिया में सबसे बड़ा सामूहिक स्नान है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...