Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Oct 2023 · 1 min read

23/103.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*

23/103.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
🌷 अपन बनाये काबर🌷
22 22 22
अपन बनाये काबर ।
सजन रिसाये काबर ।।
जिनगी हे डोंगा कस।
हार मनाये काबर ।।
हिरदे ला पीरा दे।
पार लगाये काबर ।।
जानेस नई मोला।
नाच नचाये काबर ।।
कइसन दुनिया खेदू ।
रास रचाये काबर ।।
……✍डॉ .खेदू भारती”सत्येश”
31-10-2023मंगलवार

107 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तुम रट गये  जुबां पे,
तुम रट गये जुबां पे,
Satish Srijan
अपना मन
अपना मन
Harish Chandra Pande
వీరుల స్వాత్యంత్ర అమృత మహోత్సవం
వీరుల స్వాత్యంత్ర అమృత మహోత్సవం
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
,,,,,,,,,,?
,,,,,,,,,,?
शेखर सिंह
दो अक्टूबर
दो अक्टूबर
नूरफातिमा खातून नूरी
■ नेक सलाह। स्वधर्मियों के लिए। बाक़ी अपने मालिक को याद करें।
■ नेक सलाह। स्वधर्मियों के लिए। बाक़ी अपने मालिक को याद करें।
*Author प्रणय प्रभात*
राम
राम
Sanjay ' शून्य'
हिम बसंत. . . .
हिम बसंत. . . .
sushil sarna
थोड़ा पैसा कमाने के लिए दूर क्या निकले पास वाले दूर हो गये l
थोड़ा पैसा कमाने के लिए दूर क्या निकले पास वाले दूर हो गये l
Ranjeet kumar patre
बढ़ती हुई समझ,
बढ़ती हुई समझ,
Shubham Pandey (S P)
स्नेह - प्यार की होली
स्नेह - प्यार की होली
Raju Gajbhiye
सौंदर्यबोध
सौंदर्यबोध
Prakash Chandra
Love yourself
Love yourself
आकांक्षा राय
ना देखा कोई मुहूर्त,
ना देखा कोई मुहूर्त,
आचार्य वृन्दान्त
पार्थगाथा
पार्थगाथा
Vivek saswat Shukla
*नया साल*
*नया साल*
Dushyant Kumar
*यादें कब दिल से गईं, जग से जाते लोग (कुंडलिया)*
*यादें कब दिल से गईं, जग से जाते लोग (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
बेटियां
बेटियां
Mukesh Kumar Sonkar
हमने किस्मत से आंखें लड़ाई मगर
हमने किस्मत से आंखें लड़ाई मगर
VINOD CHAUHAN
मेरे जीने की एक वजह
मेरे जीने की एक वजह
Dr fauzia Naseem shad
कितना कुछ सहती है
कितना कुछ सहती है
Shweta Soni
भक्त मार्ग और ज्ञान मार्ग
भक्त मार्ग और ज्ञान मार्ग
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
Dr Arun Kumar Shastri
Dr Arun Kumar Shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
घर से बेघर
घर से बेघर
Punam Pande
बोगेनविलिया
बोगेनविलिया
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
देश आज 75वां गणतंत्र दिवस मना रहा,
देश आज 75वां गणतंत्र दिवस मना रहा,
पूर्वार्थ
कुछ फूल तो कुछ शूल पाते हैँ
कुछ फूल तो कुछ शूल पाते हैँ
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
In adverse circumstances, neither the behavior nor the festi
In adverse circumstances, neither the behavior nor the festi
सिद्धार्थ गोरखपुरी
23/46.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/46.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
डर के आगे जीत।
डर के आगे जीत।
Anil Mishra Prahari
Loading...