Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Oct 2023 · 1 min read

23/102.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*

23/102.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
कोनो जीतय कोनो हारय।
बस जनता हर बाजी मारय।।
खा खा के पेट भरय दुनिया।
अपनेच इहां जिनगी तारय।।
चुनई के बेरा करय मजा ।
मस्त मस्त होके मदरस झारय।।
अंजोर बगराय सब कोती।
ओरी ओरी दीया बारय ।।
मनमोही ये दौना खेदू ।
कोरे गाथे बेनी पारय।।
…….✍डॉ .खेदू भारती”सत्येश”
30-10-2023सोमवार

282 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
!!! नानी जी !!!
!!! नानी जी !!!
जगदीश लववंशी
निभा गये चाणक्य सा,
निभा गये चाणक्य सा,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ज़िंदगी तेरी हद
ज़िंदगी तेरी हद
Dr fauzia Naseem shad
"अपने की पहचान "
Yogendra Chaturwedi
वेला है गोधूलि की , सबसे अधिक पवित्र (कुंडलिया)
वेला है गोधूलि की , सबसे अधिक पवित्र (कुंडलिया)
Ravi Prakash
🌲दिखाता हूँ मैं🌲
🌲दिखाता हूँ मैं🌲
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
फ़िल्मी धुनों पर बने भजनों से लाख दर्ज़े बेहतर हैं वो फ़िल्मी ग
फ़िल्मी धुनों पर बने भजनों से लाख दर्ज़े बेहतर हैं वो फ़िल्मी ग
*प्रणय प्रभात*
गजब गांव
गजब गांव
Sanjay ' शून्य'
इसका क्या सबूत है, तू साथ सदा मेरा देगी
इसका क्या सबूत है, तू साथ सदा मेरा देगी
gurudeenverma198
कभी मिले नहीं है एक ही मंजिल पर जानें वाले रास्तें
कभी मिले नहीं है एक ही मंजिल पर जानें वाले रास्तें
Sonu sugandh
समाप्त हो गई परीक्षा
समाप्त हो गई परीक्षा
Vansh Agarwal
" एकता "
DrLakshman Jha Parimal
नींद और ख्वाब
नींद और ख्वाब
Surinder blackpen
बादल
बादल
Shankar suman
लिख के उंगली से धूल पर कोई - संदीप ठाकुर
लिख के उंगली से धूल पर कोई - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
बिना दूरी तय किये हुए कही दूर आप नहीं पहुंच सकते
बिना दूरी तय किये हुए कही दूर आप नहीं पहुंच सकते
Adha Deshwal
श्री राम जी अलौकिक रूप
श्री राम जी अलौकिक रूप
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
सहधर्मिणी
सहधर्मिणी
Bodhisatva kastooriya
लालच का फल
लालच का फल
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*बदलना और मिटना*
*बदलना और मिटना*
Sûrëkhâ
In case you are more interested
In case you are more interested
Dhriti Mishra
देखने का नजरिया
देखने का नजरिया
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
Ghazal
Ghazal
shahab uddin shah kannauji
मोहब्बत ना-समझ होती है समझाना ज़रूरी है
मोहब्बत ना-समझ होती है समझाना ज़रूरी है
Rituraj shivem verma
"आईने पे कहर"
Dr. Kishan tandon kranti
জীবন চলচ্চিত্রের একটি খালি রিল, যেখানে আমরা আমাদের ইচ্ছামত গ
জীবন চলচ্চিত্রের একটি খালি রিল, যেখানে আমরা আমাদের ইচ্ছামত গ
Sakhawat Jisan
रामायण  के  राम  का , पूर्ण हुआ बनवास ।
रामायण के राम का , पूर्ण हुआ बनवास ।
sushil sarna
मुस्कुराना जरूरी है
मुस्कुराना जरूरी है
Mamta Rani
*Awakening of dreams*
*Awakening of dreams*
Poonam Matia
Loading...