Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Nov 2023 · 1 min read

🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀

🥀 गुरु चरणों की धूल🥀
निज नल और अरदास से, जो सर झुकाता।
करता प्रार्थना गुरु चरणों, धर कर पृं पद पाता।।
धैर्यवान धर्म वीर वो, युगों युगों याद आता।
रँगी हम राही नमन कर, कीवन फल वो है पाता।।
✍जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
झाँसी उ•प्र•

198 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
खल साहित्यिकों का छलवृत्तांत / MUSAFIR BAITHA
खल साहित्यिकों का छलवृत्तांत / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
पर्यावरण
पर्यावरण
नवीन जोशी 'नवल'
थकावट दूर करने की सबसे बड़ी दवा चेहरे पर खिली मुस्कुराहट है।
थकावट दूर करने की सबसे बड़ी दवा चेहरे पर खिली मुस्कुराहट है।
Rj Anand Prajapati
"प्रेमको साथी" (Premko Sathi) "Companion of Love"
Sidhartha Mishra
कुछ भी भूलती नहीं मैं,
कुछ भी भूलती नहीं मैं,
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
चीजें खुद से नहीं होती, उन्हें करना पड़ता है,
चीजें खुद से नहीं होती, उन्हें करना पड़ता है,
Sunil Maheshwari
*मंज़िल पथिक और माध्यम*
*मंज़िल पथिक और माध्यम*
Lokesh Singh
माँ सरस्वती
माँ सरस्वती
Mamta Rani
खुश रहने वाले गांव और गरीबी में खुश रह लेते हैं दुःख का रोना
खुश रहने वाले गांव और गरीबी में खुश रह लेते हैं दुःख का रोना
Ranjeet kumar patre
किन्तु क्या संयोग ऐसा; आज तक मन मिल न पाया?
किन्तु क्या संयोग ऐसा; आज तक मन मिल न पाया?
संजीव शुक्ल 'सचिन'
**कविता: आम आदमी की कहानी**
**कविता: आम आदमी की कहानी**
Dr Mukesh 'Aseemit'
इंडियन टाइम
इंडियन टाइम
Dr. Pradeep Kumar Sharma
माँ की दुआ इस जगत में सबसे बड़ी शक्ति है।
माँ की दुआ इस जगत में सबसे बड़ी शक्ति है।
लक्ष्मी सिंह
आत्मविश्वास
आत्मविश्वास
Anamika Tiwari 'annpurna '
कौन है वो ?
कौन है वो ?
Rachana
तृष्णा उस मृग की भी अब मिटेगी, तुम आवाज तो दो।
तृष्णा उस मृग की भी अब मिटेगी, तुम आवाज तो दो।
Manisha Manjari
मुझसे नाराज़ कभी तू , होना नहीं
मुझसे नाराज़ कभी तू , होना नहीं
gurudeenverma198
चलना हमारा काम है
चलना हमारा काम है
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
आपस की गलतफहमियों को काटते चलो।
आपस की गलतफहमियों को काटते चलो।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
काम,क्रोध,भोग आदि मोक्ष भी परमार्थ है
काम,क्रोध,भोग आदि मोक्ष भी परमार्थ है
AJAY AMITABH SUMAN
"लिखना है"
Dr. Kishan tandon kranti
*हथेली  पर  बन जान ना आए*
*हथेली पर बन जान ना आए*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
वनमाली
वनमाली
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
भीड़ की नजर बदल रही है,
भीड़ की नजर बदल रही है,
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
जीवन पर
जीवन पर
Dr fauzia Naseem shad
रचना प्रेमी, रचनाकार
रचना प्रेमी, रचनाकार
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
आ अब लौट चले
आ अब लौट चले
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
#ग़ज़ल
#ग़ज़ल
*प्रणय प्रभात*
दोहा त्रयी. . .
दोहा त्रयी. . .
sushil sarna
मुद्दा
मुद्दा
Paras Mishra
Loading...