Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Nov 2023 · 1 min read

🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀

🥀 गुरु चरणों की धूल🥀

वीर भक्त न हुआ, न है न होगा बजरंग।

दैहिक दैविक भौतिक छुड़ाते हैं ये बजरंग।।

लाये दोनां गिर से बूटी संग, शिर्ख लाये हैं बजरंग।

रँगी राही बुद्धि के भंर्ड़ा हैं महावीर बजरंग।।

✍जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी

154 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मेरी माटी मेरा देश....
मेरी माटी मेरा देश....
डॉ.सीमा अग्रवाल
जिन्दगी का मामला।
जिन्दगी का मामला।
Taj Mohammad
जग-मग करते चाँद सितारे ।
जग-मग करते चाँद सितारे ।
Vedha Singh
ह्रदय जब स्वच्छता से ओतप्रोत होगा।
ह्रदय जब स्वच्छता से ओतप्रोत होगा।
Sahil Ahmad
"मकर संक्रान्ति"
Dr. Kishan tandon kranti
मायड़ भौम रो सुख
मायड़ भौम रो सुख
लक्की सिंह चौहान
3323.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3323.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
मेरा गांव
मेरा गांव
अनिल "आदर्श"
विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून 2023
विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून 2023
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सृष्टि भी स्त्री है
सृष्टि भी स्त्री है
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
काफी लोगो ने मेरे पढ़ने की तेहरिन को लेकर सवाल पूंछा
काफी लोगो ने मेरे पढ़ने की तेहरिन को लेकर सवाल पूंछा
पूर्वार्थ
बिषय सदाचार
बिषय सदाचार
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
हर इश्क में रूह रोता है
हर इश्क में रूह रोता है
Pratibha Pandey
जीवन है मेरा
जीवन है मेरा
Dr fauzia Naseem shad
अब ना होली रंगीन होती है...
अब ना होली रंगीन होती है...
Keshav kishor Kumar
अरे वो बाप तुम्हें,
अरे वो बाप तुम्हें,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
अंतिम सत्य
अंतिम सत्य
विजय कुमार अग्रवाल
यूं साया बनके चलते दिनों रात कृष्ण है
यूं साया बनके चलते दिनों रात कृष्ण है
Ajad Mandori
ऐसा नही था कि हम प्यारे नही थे
ऐसा नही था कि हम प्यारे नही थे
Dr Manju Saini
तीन मुट्ठी तन्दुल
तीन मुट्ठी तन्दुल
कार्तिक नितिन शर्मा
फूल सूखी डाल पर  खिलते  नहीं  कचनार  के
फूल सूखी डाल पर खिलते नहीं कचनार के
Anil Mishra Prahari
बितियाँ मेरी सब बात सुण लेना।
बितियाँ मेरी सब बात सुण लेना।
Anil chobisa
जेठ कि भरी दोपहरी
जेठ कि भरी दोपहरी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
विवेकवान मशीन
विवेकवान मशीन
Sandeep Pande
इजाज़त है तुम्हें दिल मेरा अब तोड़ जाने की ।
इजाज़त है तुम्हें दिल मेरा अब तोड़ जाने की ।
Phool gufran
हौसला
हौसला
Monika Verma
नशा त्याग दो
नशा त्याग दो
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
आज की जरूरत~
आज की जरूरत~
दिनेश एल० "जैहिंद"
स्थाई- कहो सुनो और गुनों
स्थाई- कहो सुनो और गुनों
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
आसान नही सिर्फ सुनके किसी का किरदार आंकना
आसान नही सिर्फ सुनके किसी का किरदार आंकना
Kumar lalit
Loading...