Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Nov 2023 · 1 min read

🥀*गुरु चरणों की धूलि*🥀

🥀*गुरु चरणों की धूलि*🥀
छंद “पणव”,मापनीयुक्त वर्णिक,१०वर्ण मापनी-गागागा लल,ल लगागा गाअथवा-गागागा गालल, ललगा गागा पिंगल सूत्र-म न य ग (५-५) ध्रुव शब्द-“प्यारा”(छन्द में कहीं पर आना चाहिएं)

राम भजन,जग आ धारा,
जगदा धार,सृष्टि में प्यारा।
भव से पार, ईश ले जाता,
रँगी राही, विरला आता।।
✍जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी उ•प्र•

97 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जन्म दायनी माँ
जन्म दायनी माँ
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
एक ही तारनहारा
एक ही तारनहारा
Satish Srijan
💐प्रेम कौतुक-316💐
💐प्रेम कौतुक-316💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
वतन में रहने वाले ही वतन को बेचा करते
वतन में रहने वाले ही वतन को बेचा करते
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
तेरा बना दिया है मुझे
तेरा बना दिया है मुझे
gurudeenverma198
"माटी-तिहार"
Dr. Kishan tandon kranti
बंधन यह अनुराग का
बंधन यह अनुराग का
Om Prakash Nautiyal
*खुश रहना है तो जिंदगी के फैसले अपनी परिस्थिति को देखकर खुद
*खुश रहना है तो जिंदगी के फैसले अपनी परिस्थिति को देखकर खुद
Shashi kala vyas
अस्तित्व
अस्तित्व
Shyam Sundar Subramanian
#दोहा-
#दोहा-
*Author प्रणय प्रभात*
आरक्षण बनाम आरक्षण / MUSAFIR BAITHA
आरक्षण बनाम आरक्षण / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
गीता, कुरान ,बाईबल, गुरु ग्रंथ साहिब
गीता, कुरान ,बाईबल, गुरु ग्रंथ साहिब
Harminder Kaur
जीवन की परख
जीवन की परख
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
2557.पूर्णिका
2557.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
एहसासों से भरे पल
एहसासों से भरे पल
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
मन का आंगन
मन का आंगन
DR. Kaushal Kishor Shrivastava
'धोखा'
'धोखा'
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
एक है ईश्वर
एक है ईश्वर
Dr fauzia Naseem shad
वो लम्हें जो हर पल में, तुम्हें मुझसे चुराते हैं।
वो लम्हें जो हर पल में, तुम्हें मुझसे चुराते हैं।
Manisha Manjari
पत्र
पत्र
लक्ष्मी सिंह
*** बिंदु और परिधि....!!! ***
*** बिंदु और परिधि....!!! ***
VEDANTA PATEL
*जहॉं पर हारना तय था, वहॉं हम जीत जाते हैं (हिंदी गजल)*
*जहॉं पर हारना तय था, वहॉं हम जीत जाते हैं (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
चंद अशआर
चंद अशआर
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
मुक्तक
मुक्तक
डॉक्टर रागिनी
बुला लो
बुला लो
Dr.Pratibha Prakash
नारी शक्ति का हो 🌹🙏सम्मान🙏
नारी शक्ति का हो 🌹🙏सम्मान🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
क्योंकि मै प्रेम करता हु - क्योंकि तुम प्रेम करती हो
क्योंकि मै प्रेम करता हु - क्योंकि तुम प्रेम करती हो
Basant Bhagawan Roy
योग
योग
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
दोहे बिषय-सनातन/सनातनी
दोहे बिषय-सनातन/सनातनी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
हिन्दी
हिन्दी
Bodhisatva kastooriya
Loading...