Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Sep 2023 · 1 min read

।2508.पूर्णिका

।2508.पूर्णिका
🌹तेरी ये अदाएं अच्छी लगी 🌹
22 2122 1212
तेरी ये अदाएं अच्छी लगी ।
मुहब्बत की सदाएं अच्छी लगी ।।
खिलते साथ पाकर तुझे यहाँ ।
छाए जब घटाएं अच्छी लगी ।।
दिल की बस बात करते हरदम ।
महके यूं फिजाएं अच्छी लगी ।।
ख्वाहिश खूबसूरत हसीन है ।
सच सोलह कलाएं अच्छी लगी।।
दामन पाक खेदू रखे निशां ।
पावन सब दिशाएं अच्छी लगी ।।
…….✍डॉ .खेदू भारती “सत्येश”
28-9-2023गुरुवार

68 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जब सावन का मौसम आता
जब सावन का मौसम आता
लक्ष्मी सिंह
कमरा उदास था
कमरा उदास था
Shweta Soni
*आशाओं के दीप*
*आशाओं के दीप*
Harminder Kaur
2603.पूर्णिका
2603.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
👌
👌
*Author प्रणय प्रभात*
सरयू
सरयू
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
विचार , हिंदी शायरी
विचार , हिंदी शायरी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
प्यार नहीं दे पाऊँगा
प्यार नहीं दे पाऊँगा
Kaushal Kumar Pandey आस
कभी कभी अच्छा लिखना ही,
कभी कभी अच्छा लिखना ही,
नेताम आर सी
जिंदगी
जिंदगी
विजय कुमार अग्रवाल
मार्केटिंग फंडा
मार्केटिंग फंडा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*दादी बाबा पोता पोती, मिलकर घर कहलाता है (हिंदी गजल)*
*दादी बाबा पोता पोती, मिलकर घर कहलाता है (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
तुम जोर थे
तुम जोर थे
Ranjana Verma
किसी के टुकड़े पर पलने से अच्छा है खुद की ठोकरें खाईं जाए।
किसी के टुकड़े पर पलने से अच्छा है खुद की ठोकरें खाईं जाए।
Rj Anand Prajapati
ये उदास शाम
ये उदास शाम
shabina. Naaz
*****रामलला*****
*****रामलला*****
Kavita Chouhan
💐प्रेम कौतुक-168💐
💐प्रेम कौतुक-168💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
इश्क़ में भी हैं बहुत, खा़र से डर लगता है।
इश्क़ में भी हैं बहुत, खा़र से डर लगता है।
सत्य कुमार प्रेमी
अलगौझा
अलगौझा
भवानी सिंह धानका "भूधर"
समय
समय
Neeraj Agarwal
नन्ही परी चिया
नन्ही परी चिया
Dr Archana Gupta
कहा किसी ने
कहा किसी ने
Surinder blackpen
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
समय के पहिए पर कुछ नए आयाम छोड़ते है,
समय के पहिए पर कुछ नए आयाम छोड़ते है,
manjula chauhan
वह देश हिंदुस्तान है
वह देश हिंदुस्तान है
gurudeenverma198
ତାଙ୍କଠାରୁ ଅଧିକ
ତାଙ୍କଠାରୁ ଅଧିକ
Otteri Selvakumar
"हालात"
Dr. Kishan tandon kranti
Dr arun kumar shastri
Dr arun kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मेरी तो गलतियां मशहूर है इस जमाने में
मेरी तो गलतियां मशहूर है इस जमाने में
Ranjeet kumar patre
Loading...