Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Apr 2018 · 1 min read

** ज़ख्म हंसते रहे **

ज़ख्म हंसते रहे पीर दिल में उठी
चीर जाये जो दिल टीस ऐसी उठी
एक तन्हा था मैं दर्देदिल सहता रहा
दील अपना था मगर दर्द पराया रहा
एक एकांत मैं दिल कराहता रहा
हंसते-हंसते मैं दर्देदिल सहता रहा
नहीं कोई है ग़म ये कहता रहा
तन्हा-तन्हा ये दिल सब सहता रहा
ज़ख्म हंसते रहे पीर दिल में उठी
चीर जाये जो दिल टीस ऐसी उठी
हंसते-हंसते मैं दर्देदिल अपना रहा
कहदूं किसको मैं अब दर्दे दिल
दिल भी अब, ना अपना रहा
मुझको अपना ले कोई अपना समझ
मेरे ग़म मेरे दर्देदिल को अपना समझ
ज़ख्म हंसते रहे पीर दिल में उठी
चीर जाये जो दिल टीस ऐसी उठी ||
मधुप बैरागी

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Like · 240 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from भूरचन्द जयपाल
View all
You may also like:
हाथ की उंगली😭
हाथ की उंगली😭
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
बिटिया !
बिटिया !
Sangeeta Beniwal
माफ़ कर दे कका
माफ़ कर दे कका
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
हकीकत पर एक नजर
हकीकत पर एक नजर
पूनम झा 'प्रथमा'
संसार का स्वरूप(3)
संसार का स्वरूप(3)
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
बेड़ियाँ
बेड़ियाँ
Shaily
2651.पूर्णिका
2651.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
चले आना मेरे पास
चले आना मेरे पास
gurudeenverma198
हिंदी पखवाडा
हिंदी पखवाडा
Shashi Dhar Kumar
फ़र्क़ यह नहीं पड़ता
फ़र्क़ यह नहीं पड़ता
Anand Kumar
विश्व शांति की करें प्रार्थना, ईश्वर का मंगल नाम जपें
विश्व शांति की करें प्रार्थना, ईश्वर का मंगल नाम जपें
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सुमति
सुमति
Dr. Pradeep Kumar Sharma
नन्ही परी
नन्ही परी
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
दर्द को उसके
दर्द को उसके
Dr fauzia Naseem shad
जो भी आते हैं वो बस तोड़ के चल देते हैं
जो भी आते हैं वो बस तोड़ के चल देते हैं
अंसार एटवी
जो संतुष्टि का दास बना, जीवन की संपूर्णता को पायेगा।
जो संतुष्टि का दास बना, जीवन की संपूर्णता को पायेगा।
Manisha Manjari
जितना तुझे लिखा गया , पढ़ा गया
जितना तुझे लिखा गया , पढ़ा गया
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
किसी तरह मां ने उसको नज़र से बचा लिया।
किसी तरह मां ने उसको नज़र से बचा लिया।
Phool gufran
देवों की भूमि उत्तराखण्ड
देवों की भूमि उत्तराखण्ड
Ritu Asooja
मनुस्मृति का, राज रहा,
मनुस्मृति का, राज रहा,
SPK Sachin Lodhi
क़ाफ़िया तुकांत -आर
क़ाफ़िया तुकांत -आर
Yogmaya Sharma
"समझदार"
Dr. Kishan tandon kranti
■ ज़िंदगी में गुस्ताखियां भी होती हैं अक़्सर।
■ ज़िंदगी में गुस्ताखियां भी होती हैं अक़्सर।
*प्रणय प्रभात*
तू नर नहीं नारायण है
तू नर नहीं नारायण है
Dr. Upasana Pandey
रिश्ता
रिश्ता
Santosh Shrivastava
*कभी लगता है : तीन शेर*
*कभी लगता है : तीन शेर*
Ravi Prakash
अपनी मंजिल की तलाश में ,
अपनी मंजिल की तलाश में ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
खयालों ख्वाब पर कब्जा मुझे अच्छा नहीं लगता
खयालों ख्वाब पर कब्जा मुझे अच्छा नहीं लगता
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
नेपाल के लुंबनी में सफलतापूर्ण समापन हुआ सार्क समिट एवं गौरव पुरुस्कार समारोह
नेपाल के लुंबनी में सफलतापूर्ण समापन हुआ सार्क समिट एवं गौरव पुरुस्कार समारोह
The News of Global Nation
मैं अशुद्ध बोलता हूं
मैं अशुद्ध बोलता हूं
Keshav kishor Kumar
Loading...