Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Nov 2022 · 1 min read

हवा

घर से तो शराफत से निकल पड़े,
फिर जिधर को हवा थी उधर को चल पड़े !!

मार्तंड

Language: Hindi
2 Likes · 1 Comment · 154 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तारीफ....... तुम्हारी
तारीफ....... तुम्हारी
Neeraj Agarwal
मनभावन होली
मनभावन होली
Anamika Tiwari 'annpurna '
जरूरी बहुत
जरूरी बहुत
surenderpal vaidya
हाथ की लकीरों में फ़क़ीरी लिखी है वो कहते थे हमें
हाथ की लकीरों में फ़क़ीरी लिखी है वो कहते थे हमें
VINOD CHAUHAN
एक दिन
एक दिन
Harish Chandra Pande
एक बात तो,पक्की होती है मेरी,
एक बात तो,पक्की होती है मेरी,
Dr. Man Mohan Krishna
माँ
माँ
Harminder Kaur
ख्वाब हो गए हैं वो दिन
ख्वाब हो गए हैं वो दिन
shabina. Naaz
रामायण  के  राम  का , पूर्ण हुआ बनवास ।
रामायण के राम का , पूर्ण हुआ बनवास ।
sushil sarna
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
चंद अशआर
चंद अशआर
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
"ख्वाहिशें"
Dr. Kishan tandon kranti
इश्क में आजाद कर दिया
इश्क में आजाद कर दिया
Dr. Mulla Adam Ali
पुरुषो को प्रेम के मायावी जाल में फसाकर , उनकी कमौतेजन्न बढ़
पुरुषो को प्रेम के मायावी जाल में फसाकर , उनकी कमौतेजन्न बढ़
पूर्वार्थ
कभी मज़बूरियों से हार दिल कमज़ोर मत करना
कभी मज़बूरियों से हार दिल कमज़ोर मत करना
आर.एस. 'प्रीतम'
देव्यपराधक्षमापन स्तोत्रम
देव्यपराधक्षमापन स्तोत्रम
पंकज प्रियम
तुम मेरा साथ दो
तुम मेरा साथ दो
Surya Barman
किसी का खौफ नहीं, मन में..
किसी का खौफ नहीं, मन में..
अरशद रसूल बदायूंनी
मुझको मेरी लत लगी है!!!
मुझको मेरी लत लगी है!!!
सिद्धार्थ गोरखपुरी
*आत्महत्या*
*आत्महत्या*
आकांक्षा राय
लौट कर रास्ते भी
लौट कर रास्ते भी
Dr fauzia Naseem shad
*करते पशुओं पर दया, अग्रसेन भगवान (कुंडलिया)*
*करते पशुओं पर दया, अग्रसेन भगवान (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
राष्ट्र निर्माता गुरु
राष्ट्र निर्माता गुरु
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
नज़रें बयां करती हैं,लेकिन इज़हार नहीं करतीं,
नज़रें बयां करती हैं,लेकिन इज़हार नहीं करतीं,
Keshav kishor Kumar
इनपे विश्वास मत कर तू
इनपे विश्वास मत कर तू
gurudeenverma198
2730.*पूर्णिका*
2730.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
वादा
वादा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
😢कलजुग😢
😢कलजुग😢
*प्रणय प्रभात*
हमारी प्यारी मां
हमारी प्यारी मां
Shriyansh Gupta
ज़माने ने मुझसे ज़रूर कहा है मोहब्बत करो,
ज़माने ने मुझसे ज़रूर कहा है मोहब्बत करो,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
Loading...