Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Feb 2023 · 1 min read

हर कसौटी पर उसकी मैं खरा उतर जाऊं………

हर कसौटी पर उसकी मैं खरा उतर जाऊं………

इंसान हूं मैं , खुदा तो नहीं…. !

कोई भी हो मर्ज मैं ही काम आऊ……….,

हमदर्द हु तेरा दवा तो नहीं….!

कवि दीपक सरल

1 Like · 252 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मिट्टी का बस एक दिया हूँ
मिट्टी का बस एक दिया हूँ
Chunnu Lal Gupta
अनुभव एक ताबीज है
अनुभव एक ताबीज है
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
स्वर्गीय लक्ष्मी नारायण पांडेय निर्झर की पुस्तक 'सुरसरि गंगे
स्वर्गीय लक्ष्मी नारायण पांडेय निर्झर की पुस्तक 'सुरसरि गंगे
Ravi Prakash
गीता जयंती
गीता जयंती
Satish Srijan
निगाहें
निगाहें
Sunanda Chaudhary
दोहे
दोहे
अशोक कुमार ढोरिया
आविष्कार एक स्वर्णिम अवसर की तलाश है।
आविष्कार एक स्वर्णिम अवसर की तलाश है।
Rj Anand Prajapati
।।सावन म वैशाख नजर आवत हे।।
।।सावन म वैशाख नजर आवत हे।।
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
आजमाइश
आजमाइश
Suraj Mehra
*अच्छी आदत रोज की*
*अच्छी आदत रोज की*
Dushyant Kumar
दवाइयां जब महंगी हो जाती हैं, ग़रीब तब ताबीज पर यकीन करने लग
दवाइयां जब महंगी हो जाती हैं, ग़रीब तब ताबीज पर यकीन करने लग
Jogendar singh
उतरे हैं निगाह से वे लोग भी पुराने
उतरे हैं निगाह से वे लोग भी पुराने
सिद्धार्थ गोरखपुरी
जीवन की
जीवन की
Dr fauzia Naseem shad
बुला रही है सीता तुम्हारी, तुमको मेरे रामजी
बुला रही है सीता तुम्हारी, तुमको मेरे रामजी
gurudeenverma198
मैं जानती हूँ तिरा दर खुला है मेरे लिए ।
मैं जानती हूँ तिरा दर खुला है मेरे लिए ।
Neelam Sharma
मैं आत्मनिर्भर बनना चाहती हूं
मैं आत्मनिर्भर बनना चाहती हूं
Neeraj Agarwal
कोरोना :शून्य की ध्वनि
कोरोना :शून्य की ध्वनि
Mahendra singh kiroula
*नन्हीं सी गौरिया*
*नन्हीं सी गौरिया*
Shashi kala vyas
हज़ारों साल
हज़ारों साल
DR. Kaushal Kishor Shrivastava
प्रेम लौटता है धीमे से
प्रेम लौटता है धीमे से
Surinder blackpen
बात न बनती युद्ध से, होता बस संहार।
बात न बनती युद्ध से, होता बस संहार।
डॉ.सीमा अग्रवाल
इश्क चख लिया था गलती से
इश्क चख लिया था गलती से
हिमांशु Kulshrestha
मजदूर
मजदूर
Preeti Sharma Aseem
2812. *पूर्णिका*
2812. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
...
...
*Author प्रणय प्रभात*
मार मुदई के रे... 2
मार मुदई के रे... 2
जय लगन कुमार हैप्पी
The OCD Psychologist
The OCD Psychologist
मोहित शर्मा ज़हन
छल
छल
गौरव बाबा
प्यार का यह सिलसिला चलता रहे।
प्यार का यह सिलसिला चलता रहे।
surenderpal vaidya
बेशक ! बसंत आने की, खुशी मनाया जाए
बेशक ! बसंत आने की, खुशी मनाया जाए
Keshav kishor Kumar
Loading...