Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Mar 2024 · 1 min read

हँसते गाते हुए

हँसते गाते हुए
मुस्कुराते हुए
बीत जाए जो दिन
बस जनम दिन वही,
हो भरा सुख से पर
दु:ख व पीड़ाओं से
रीत जाए जो दिन
बस जनम दिन वही,
अपने मनमीत से
प्रेम उपहार में
प्रीत पाए जो दिन
बस जनम दिन वही,
भूले बिसरे हुए
साथ छूटे हुए
मीत लाए जो दिन
बस जनम दिन वही,
भींग जाए ये मन
ऐसे सुर से सजा
गीत गाए जो दिन
बस जनम दिन वही,
इसके अँधियार से
मन की हर हार से
जीत जाए जो दिन
बस जनम दिन वही!!

39 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Shweta Soni
View all
You may also like:
खींच तान के बात को लम्बा करना है ।
खींच तान के बात को लम्बा करना है ।
Moin Ahmed Aazad
बसंती बहार
बसंती बहार
इंजी. संजय श्रीवास्तव
वो कालेज वाले दिन
वो कालेज वाले दिन
Akash Yadav
ग़ज़ल(उनकी नज़रों से ख़ुद को बचाना पड़ा)
ग़ज़ल(उनकी नज़रों से ख़ुद को बचाना पड़ा)
डॉक्टर रागिनी
ये बता दे तू किधर जाएंगे।
ये बता दे तू किधर जाएंगे।
सत्य कुमार प्रेमी
सुबुधि -ज्ञान हीर कर
सुबुधि -ज्ञान हीर कर
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जब भी किसी कार्य को पूर्ण समर्पण के साथ करने के बाद भी असफलत
जब भी किसी कार्य को पूर्ण समर्पण के साथ करने के बाद भी असफलत
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Just like a lonely star, I am staying here visible but far.
Just like a lonely star, I am staying here visible but far.
Manisha Manjari
किसी भी देश या राज्य के मुख्या को सदैव जनहितकारी और जनकल्याण
किसी भी देश या राज्य के मुख्या को सदैव जनहितकारी और जनकल्याण
डॉ.एल. सी. जैदिया 'जैदि'
एक महिला की उमर और उसकी प्रजनन दर उसके शारीरिक बनावट से साफ
एक महिला की उमर और उसकी प्रजनन दर उसके शारीरिक बनावट से साफ
Rj Anand Prajapati
बहे संवेदन रुप बयार🙏
बहे संवेदन रुप बयार🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
इन तन्हाइयों में तुम्हारी याद आएगी
इन तन्हाइयों में तुम्हारी याद आएगी
Ram Krishan Rastogi
तहजीब राखिए !
तहजीब राखिए !
साहित्य गौरव
सोचो
सोचो
Dinesh Kumar Gangwar
रोते घर के चार जन , हँसते हैं जन चार (कुंडलिया)
रोते घर के चार जन , हँसते हैं जन चार (कुंडलिया)
Ravi Prakash
National Symbols of India
National Symbols of India
VINOD CHAUHAN
कैसे चला जाऊ तुम्हारे रास्ते से ऐ जिंदगी
कैसे चला जाऊ तुम्हारे रास्ते से ऐ जिंदगी
देवराज यादव
आ जाओ
आ जाओ
हिमांशु Kulshrestha
How to Build a Healthy Relationship?
How to Build a Healthy Relationship?
Bindesh kumar jha
कुछ यादें कालजयी कवि कुंवर बेचैन की
कुछ यादें कालजयी कवि कुंवर बेचैन की
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
रात बसर कर ली है मैंने तुम्हारे शहर में,
रात बसर कर ली है मैंने तुम्हारे शहर में,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
ग़म-ए-दिल....
ग़म-ए-दिल....
Aditya Prakash
"अजब-गजब मोहब्बतें"
Dr. Kishan tandon kranti
■ आज का शेर दिल की दुनिया से।।
■ आज का शेर दिल की दुनिया से।।
*प्रणय प्रभात*
मानव मूल्य शर्मसार हुआ
मानव मूल्य शर्मसार हुआ
Bodhisatva kastooriya
दौर ऐसा हैं
दौर ऐसा हैं
SHAMA PARVEEN
2708.*पूर्णिका*
2708.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मीठा गान
मीठा गान
rekha mohan
देख तुझको यूँ निगाहों का चुराना मेरा - मीनाक्षी मासूम
देख तुझको यूँ निगाहों का चुराना मेरा - मीनाक्षी मासूम
Meenakshi Masoom
मेरा हमेशा से यह मानना रहा है कि दुनिया में ‌जितना बदलाव हमा
मेरा हमेशा से यह मानना रहा है कि दुनिया में ‌जितना बदलाव हमा
Rituraj shivem verma
Loading...