Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Jun 2016 · 3 min read

सोनागाछी – कमाठीपुरा – जीबी रोड

सोनागाछी – कमाठीपुरा – जीबी रोड

सोनागाछी – कोलकाता, कमाठीपुरा – मुंबई, जीबी रोड – दिल्ली, ये नाम बहुत जाने पहचाने से लगते हैं | इन पर कितने ही बार प्रोग्राम बने हैं और डिस्कवरी चैनल, नेशनल जियोग्राफिक चैनल पर कितनी ही बार टेलीकास्ट हुए हैं | कितनी ही बार खबरिया चैनलों पर प्राइम टाइम में स्पेशल रिपोर्ट दिखाई गयी है और न जाने कितनी ही बार समाचार पत्रों में इनके बारे में लिखा जा चुका है |

इनके नाम सुनकर लगता है ये जगहें बहुत खास होंगी | जरूर यहाँ पर कोई ऐतिहासिक धरोहर होगी जो सभी इस ओर खींचे चले आते हैं | लगभग पूरे देश में ये नाम जाने और पहचाने जाते होंगे | जितने भी वयस्क इन नामों से परिचित हैं वो ये भी जानते हैं कि इन जगहों का नाम इतना क्यों है ? जो लोग पहली बार दिल्ली, कोलकाता, मुंबई जाते हैं इन जगहों पर जाकर ज़रूर देखना चाहते हैं |

दरअसल ये नाम हमारे देश पर बदनुमा दाग हैं | जो एक ऐसे काम के नाम से जाने जाते हैं जो कि हमारे देश में अभी तक गैरकानूनी है | ये देहव्यापार की देश की सबसे बड़ी मंडियां हैं | यहाँ पर खुले आम जिस्मफरोशी का काला धंधा चलता है |

मुझे हैरानी होती है जब हमारे देश में देह व्यापार को कानूनी मान्यता ही नहीं है तो फिर ये इतने खुलेआम चल कैसे रहा है | जहाँ तक मेरा अंदाजा है दूर दराज के छोटे छोटे से गाँवों से भोली भाली लड़कियों को बहला फुसलाकर, नेपाल से तस्करी के माध्यम से, या कहीं से छोटी छोटी बच्चियों अपहरण करके, प्यार के जाल में फंसाकर यहाँ लाकर इस धंधे में डाल दिया जाता है और ये मासूम लड़कियां यहाँ नरक जैसी ज़िन्दगी जीने को मजबूर होती हैं |

कोलकाता और मुंबई तो मैं नहीं गया लेकिन मैं कुछ सालों तक दिल्ली में ज़रूर रहा हूँ | इस बीच मुझे एक बार जीबी रोड जाने का अवसर मिला | वहां जो मैंने देखा उसे देखकर मैं हैरान था | मैं अपने बॉस की गाड़ी से ड्राईवर के साथ उस रोड से निकला तो ड्राईवर ने मुझसे पूछा, ” सर, आपको पता है ये कौन सी जगह है ?” मेरे न में जवाब देने पर उसने बताया कि हम जीबी रोड पर हैं | मैंने भी जीबी रोड का नाम पहले सुन रखा था लेकिन वहां जाने का पहला अवसर था | मैंने नजर उठाकर ऊपर खिडकियों की तरफ देखो | मैंने देखा, लगभग हर खिड़की पर लड़कियां और औरतों के समूह थे जिनका कमर से ऊपर का ही हिस्सा दिखाई दे रहा था | वो सभी लड़कियां/स्त्रियाँ अंतःवस्त्रों में खिडकियों के पास खड़ी थी और ग्रिल वाली खिडकियों से हाथ बाहर निकाल कर लोगों को अपने पास आने का इशारा कर रही थी | वही एक जगह का नजारा तो निराला ही था | उस जगह पर सड़क के एक तरफ खिडकियों से ये इशारेबाजी हो रही थी वहीँ सड़क के दूसरी ओर पुलिस चौकी भी थी |

ये देखकर तो मेरा सर ही घूम गया | ये क्या हो रहा है | मैं सोच रहा था क्या ये वाकई में गैरकानूनी काम है जो इतने खुले आम थाने के ही सामने चल रहा है | न जाने कितने ही परिवारों की इज्जत इन कोठों में क़ैद होंगी ? कितने ही परिवार अपनी बच्चियों के गुमशुदा होने की तारीख अभी तक याद करते होंगे ? क्या हमारा कानून इतना सस्ता है जो इन सबको इस नरक से मुक्ति नहीं दिलवा सकता बल्कि अपने ही सामने इस कुकृत्य को होते हुए देखता है |

इन जिस्म की मंडियों में रोज न जाने कितनी ही आहें और कराहें उठती होंगी और हर दिन कितने ही अरमानों का क़त्ल होता होगा | कितने ही ख़्वाबों की कब्रगाह होंगी ये मंडियां और इन जैसी और भी मंडियां | ये तो सिर्फ तीन नाम हैं, जो अक्सर सुनने में आते हैं | अभी कुछ दिनों पहले में एक लेख पढ़ रहा था जिसमे भारत की टॉप १० देह व्यापार मंडियों के नाम दिए थे | जब मैंने उसमे धर्मनगरी बनारस का भी नाम देखा तो मेरे आश्चर्य की कोई सीमा ही नहीं रही |अगर इन मंडियों की खाक छानी जाए तो कितने ही परिवारों की खुशियाँ लौट आयें और कितनी ही बच्चियों के लबों की मुस्कान वापस आ जाए |

मेरे मन में आज भी एक ही सवाल है जब जिस्मफरोशी गैरकानूनी है तब भी ये जिस्म की मंडियाँ कैसे इस तरह से बेख़ौफ़ होकर चल रही हैं |

ये विडियो मैंने नेट से साभार लिया गया है जो आपको जीबी रोड की कुछ झलक तो दिखला ही देगा :

http://www.punjabspectrum.co/misc/reality-gb-road-red-light-area-delhi/

सन्दीप कुमार
मौलिक, अप्रकाशित
(c) सर्वाधिकार सुरक्षित
ब्लॉग : https://sandeip01.blogspot.in/2016/06/blog-post_3.html

Language: Hindi
Tag: लेख
1 Like · 6 Comments · 1835 Views
You may also like:
जीवन उत्सव
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
रिश्ता
सुशील कुमार सिंह "प्रभात"
विषपान
Vikas Sharma'Shivaaya'
सबतै बढिया खेलणा
विनोद सिल्ला
- मेरा ख्वाब मेरी हकीकत
bharat gehlot
आओ हम सब घर घर तिरंगा फहराए
Ram Krishan Rastogi
इतना आसां कहां
कवि दीपक बवेजा
आज काल के नेता और उनके बेटा
Harsh Richhariya
*मित्र ( कुंडलिया )*
Ravi Prakash
भूल जाने की क्या
Dr fauzia Naseem shad
गर जा रहे तो जाकर इक बार देख लेना।
सत्य कुमार प्रेमी
" की बोर्ड "
Dr Meenu Poonia
💐परिवारे मातु: च भागिन्या: च धर्म:💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मेरे हमदम मेरे दिलबर मेरे हमराज हो तुम। मेरे दिल...
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
✍️गलत बात है ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
अपनी पीर बताते क्यों
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आफताबे रौशनी मेरे घर आती नहीं।
Taj Mohammad
तीर्थ यात्रा
विशाल शुक्ल
पहले प्यार में
श्री रमण 'श्रीपद्'
फ़ौजी
Lohit Tamta
मिसाल
Kanchan Khanna
मीडिया की जवाबदेही
Shekhar Chandra Mitra
✍️"हैप्पी बर्थ डे पापा"✍️
'अशांत' शेखर
बड़े दिनों के बाद मिले हो
Kaur Surinder
हाँथो में लेकर हाँथ
Mamta Rani
सिस्टर
shabina. Naaz
■ आज का दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
यही हमारा है धर्म
gurudeenverma198
निःशब्दता हीं, जीवन का सार होता है।
Manisha Manjari
Indian Women
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...